डिस्कॉम के टेक्निकल असिस्टेंट परीक्षा में ऑनलाइन नकल का खुलासा, एग्जाम वाले कंप्यूटर सिस्टम हैक, ATS और SOG की जाँच जारी, हिरासत में कई लोग

2 min read

(DISCOM’s Technical Assistant Exam Revealed Cheating, Online Exam System Hacked, ATS and SOG Investigation Continues, Many People in Custody)

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 28 अगस्त 2022 | जयपुर : राजस्थान में हो रहे कॉम्पिटिशन एग्जाम में नकल के मामले बढ़ते जा रहे हैं। पटवारी, रीट और कॉन्स्टेबल के बाद अब डिस्कॉम के टेक्निकल असिस्टेंट में नकल का खुलासा हुआ है। यह एग्जाम ऑनलाइन था। इसके बाद भी माफिया ने सेंधमारी कर दी। पूरे सिस्टम को हैक कर लिया और नकल करवाई गयी। ATS ने इस मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके नाम का अभी तक खुलासा नहीं किया है।

शनिवार को प्रदेश के अलग-अलग जिलों में टेक्निकल असिस्टेंट के 1512 पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गयी थी। इससे पहले ATS अपने स्पेशल ऑपरेशन के लिए काम कर रही थी। एटीएस के आईजी विकास कुमार ने बताया कि साइबर वर्ल्ड में होने वाली गतिविधियों पर पुलिस की पैनी नजर रहती है। इस दौरान ATS की टीम को यह भनक लगी कि ऑनलाइन एग्जाम वाले सिस्टम को हैक किया गया है और उन्हें रिमोट पर लिया गया है। पता चला कि जो कम्प्यूटर हैक किये जा रहे हैं, वहाँ बिजली विभाग की टेक्निकल असिस्टेंट की परीक्षा होने वाली है।

सूचना मिली कि बीकानेर में एक सेंटर पर सिस्टम को हैक किया गया है। ATS और SOG ने मिलकर डिस्कॉम के अधिकारियों को इसके बारे में बताया। शनिवार को टीम बनाकर बीकानेर समेत अलवर, कोटा आदि शहरों के सेंटरों पर कार्रवाई की गयी। इस कार्रवाई में संदिग्ध कैंडिडेट और एग्जाम कॉर्डिनेटर को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी। टीम ने दो लैपटॉप भी बरामद किये हैं।

ऐसे हो रही थी नकल

आईजी विकास कुमार ने बताया कि हाईटेक तरीके से नकल कराने का मामला सामने आने के बाद कार्रवाई की गयी है। सामने आया कि इस गिरोह में एग्जाम सेंटर पर ड्यूटी लगाने वाले कुछ कर्मचारियों की भी मिलीभगत है। जब कैंडिडेट एग्जाम देने बैठता तो वह यह बहाना बना देता कि सिस्टम काम नहीं कर रहा है। इसके बाद शुरू होता है पूरा खेल। गिरोह के लोग पहले से मिलीभगत कर एग्जाम में काम आने वाले सिस्टम में रिमोट सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर देते थे।

इन जिलों में नकल की आशंका

SOG के एडीजी अशोक राठौड़ ने बताया कि जयपुर, बीकानेर, अजमेर, अलवर व कोटा सहित कई शहरों में नकल गिरोह सक्रिय था। एक टीम बनाकर कई लोगों को हिरासत में लिया गया है, जो आगे की पड़ताल कर रहे हैं। इसमें जिन सेंटर पर एग्जाम हो रहे थे, वहां के कर्मचारियों और अधिकारी भी संदिग्ध हैं। इन्हें भी हिरासत में लिया गया है। टीम अभी पूछताछ कर रही है।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This