क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय के निधन (Queen Elizabeth II Death) के बाद प्रिंस चार्ल्स (prince Charles)बने ब्रिटेन के नये महाराज

2 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 9 सितंबर 2022 | जयपुर: ब्रिटेन के समय के अनुसार गुरुवार 8 सितंबर की दोपहर को क्वीन एलिजाबेथ का निधन (Queen Elizabeth II Death)  बाल्मोरल कैसल में हुआ। वे 96 वर्ष की थी। इस घटना खबर की यूनाइटेड किंगडम की द रॉयल फैमिली ने ट्वीट कर बताया है।

ब्रिटिश शाही परिवार के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट The Royal Family पर यह बयान शेयर किया गया जिसमें प्रिंस चार्ल्स (prince Charles) लिखते हैं,“मेरी प्रिय मां का निधन मेरे और मेरे परिवार के सदस्यों के लिए सबसे बड़ा दुख है। हम एक लाडली रानी और प्यारी मां के जाने पर शोक प्रकट करते हैं। मैं जानता हूं हमारे देश, शाही परिवार के अधिकार क्षेत्र, कॉमनवेल्थ देशों और दुनियाभर में अनगिनत लोग इस नुकसान को महसूस करेंगे। दुख और बदलाव की इस घड़ी में मैं और मेरा परिवार महारानी को मिले सम्मान और स्नेह को याद करेंगे।” एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद उनके बेटे प्रिंस चार्ल्स ब्रिटेन के महाराज बन गए हैं। जल्दी उनकी ताजपोशी भी होगी।

सबसे लंबे समय तक शासन करने वाली रानी

क्वीन एलिजाबेथ इतिहास में सबसे लंबे समय तक शासन करने वाली रानी रही। उनका जान्म 21 अप्रैल 1926 को हुआ था। पिता जॉर्ज षष्ठम की मृत्यु के बाद एलिजाबेथ द्वितीय को यूनाइटेड किंगडम की रानी बनाया गया था।  1952 में वह महज 25 के उम्र की थी जब उनकी ताजपोशी हुई थी।  उनके पूरे शासनकाल में 15 प्रधानमंत्रियों ने काम किया। एलिजाबेथ की मृत्यु के बाद प्रिंस चार्ल्स राजा बनेंगे। साथ ही उनकी सारी संपत्ति भी प्रिंस चार्ल्स को सौंपी जायेगी।

महारानी की संपत्ति

फार्च्यून की रिपोर्ट के अनुसार महारानी एलिजाबेथ के पास 500 मिलियन डॉलर सौपत्ति  है। फोर्ब्स के अनुसार 2021 में शाही परिवार के पास 28 बिलियन डॉलर की अचल संपत्ति थी। किंतु इसे बेचने का अधिकार नहीं है। रिपोर्ट के अनुसार

द क्राउन एस्टेट – 19.5 बिलियन डॉलर

केंसिंग्टन पैलेस – 630 मिलियन डॉलर

बकिंघम पैलेस –  4.9 बिलियन डॉलर

द डची ऑफ कॉर्नवाल – 1.3 बिलियन डॉलर

द डची ऑफ लैंकेस्टर – 748 मिलियन डॉलर

स्कॉटलैंड क्राउन एस्टेट- 592 मिलियन डॉलर 

बिजनेस इंसाइडर

बिजनेस इंसाइडर की माने तो महारानी एलिजाबेथ ने अपने निवेश, ज्वेलरी और रियल स्टेट होल्डिंग्स निजी संपत्ति के रूप में 500 मिलियन डॉलर से अधिक की राशि जमा किए थे। महारानी की मृत्यु के बाद उनकी अधिकतर निजी संपत्ति उनके बड़े बेटे प्रिंस चार्ल्स को सौंप दी जाएंगी।

नियमों के अनुसार महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की निधन के तुरंत बाद प्रिंस चार्ल्स को राजा बना दिया गया। लंडन में स्थित एसटी जेम्स पैलेस (St James’s palace) में सांसदों, मेयर और सिविल सर्विस की उपस्थिति में प्रिंस चार्ल्स को राजा बना दिया जाएगा। चार्ल्स केवल ब्रिटेन ही नहीं बल्कि 15 देशों के महाराजा कहलाएंगे, जिसमें ऑस्ट्रेलिया और कनाडा जैसे देश भी शामिल हैं।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This