मुसलाधार बारिस से जयपुर में बिगड़े हालात, महेश नगर में स्टूडेंट्स के कमरे में घुसा पानी, प्रोफ़ेसर मीणा की स्टूडेंट्स को आर्थिक सहयोग की माँग, परकोटे की सड़कें नदी बनी

7 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 10, जुलाई 2023 | दिल्ली-जयपुर-महेश नगर : जयपुर में पिछले 24 घंटे से रुक-रुककर हुई तेज बारिश ने लोगों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। जयपुर में एक 6 साल के मासूम की नाले में बहने से मौत हो गई। वहीं, जगह-जगह पानी भर गया। इनमें कार बाइक नाव की तरह तैरने लगीं। जगह-जगह खुदे गड्ढों से लोग घायल हो रहे हैं। जयपुर में पढ़ने आए छात्रों के कमरों में पानी भर गया। इससे वे रातभर सो नहीं सके। रूम में रखा सामान खराब हो गया। सुबह तक भूखे ही बैठे रहे।

भारी बारिश के कारण जयपुर में बिगड़े हालातों का जायजा लिया, पढ़िए मूकनायक मीडिया की स्पेशल रिपोर्ट…

लोकेशन 1- स्लीपर उठाने के चक्कर में बह गया मासूम
मुरलीपुरा इलाके में नाले में बहने से एक बच्चे की मौत हो गई है। रोड नंबर 6 के पास लोगों को सड़क पर बहता हुआ बच्चा दिखा, लोग उसे पास के निजी अस्पताल में लेकर पहुंचे। निजी अस्पताल ने बच्चे को लेने से मना कर दिया, इसके बाद बच्चे को सीकेएस अस्पताल लेकर गए।

%name मुसलाधार बारिस से जयपुर में बिगड़े हालात, महेश नगर में स्टूडेंट्स के कमरे में घुसा पानी, प्रोफ़ेसर मीणा की स्टूडेंट्स को आर्थिक सहयोग की माँग, परकोटे की सड़कें नदी बनीडॉक्टरों ने जांच के बाद बच्चे को मृत घोषित कर दिया। मुरलीपुरा थाना पुलिस ने बताया कि मृतक बच्चे की पहचान ऋषि कुमार (6) के रूप में हुई है। बच्चा अपने माता-पिता के साथ शेखावटी नगर सब्जी मंडी के पास रहता था।

आज सुबह भारी बारिश के दौरान नाले उफान पर थे, इसी दौरान बच्चा नाले में बह गया। बारिश के पानी में बहने से ऋषि कुमार की मौत हो गई। परिवारजनों ने बताया- बच्चा अपने बड़े भाई के साथ खेल रहा था। इस दौरान उसकी चप्पल बह गई। उसे पकड़ने के लिए बच्चा नाले में बह गया।

परिवार के लोगों ने बच्चे को निकालने का प्रयास किया, लेकिन तब तक बच्चा पानी के बहाव में आगे निकल गया था। पानी में बहता हुआ बच्चा रोड नंबर 6 तक पहुंचा तो यहां नाले से निकल कर सड़क पर चल रहे पानी में बहने लगा। स्थानीय लोगों ने बच्चे को सड़क पर बहते हुए देखा।

लोकेशन 2- स्टूडेंट्स के कमरे में घुसा पानी
जयपुर के महेश नगर इलाके में 80 फिट रोड पर डेढ़ से दो फीट तक पानी भर गया। पानी भरने के कारण गाड़ियां बंद पड़ गईं। इसके कारण लोगों को गाड़ियों को धक्के देकर पानी में से निकालना पड़ा।

सड़क किनारे खड़े फल और सब्जी वालों का सामान भी बह गया। चायवालों के पास रखे सिलेंडर भी पानी में तैरते नजर आए। यहां नगर निगम प्रशासन की ओर से किए गए तमाम दावे धाराशाई नजर आए।

प्रोफ़ेसर राम लखन मीणा ने कहा कि गहलोत सरकार की लापरवाही और भ्रष्टाचार की वजह से समय पर सफाई नहीं हुई जिससे सड़कों पर सीवर का पानी बाहर आ गया। नालियों की सफाई नहीं होने के कारण गंदा पानी सड़कों पर बह गया। सड़के नदियों में तब्दील हो गई। वही लोगों को ऐसी गंदगी में से होकर गुजरना पड़ा।

प्रोफ़ेसर मीणा ने मुख्यमंत्री से माँग की कि महेश नगर में काफी स्टूडेंट रहते हैं। ड्रेनेज सिस्टम सही नहीं होने के कारण उनके कमरों में पानी भर गया। स्टूडेंट्स का रखा सामान खराब हो गया। इसलिए गहलोत सरकार स्टूडेट्स को आर्थिक सहायता दें। वही स्टूडेंट्स का कहना है कि हमारे जो खाने-पीने का सामान, चूल्हा, किताबें सब पानी में भीग गए। यहां कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी कर रहे छात्र अनूप ने बताया- बारिश की वजह से हमारे कमरे में रखा हुआ सामान भीग गया है।

रात से ही हम लोग बाहर बैठे हैं। कमरे में पानी घुस गया है। सभी स्टूडेंट रात भर से ही सोए भी नहीं है। ना तो कुछ हमने खाना खाया है, ना ही कहीं जा पा रहे हैं। खाने का जो सामान घर से लेकर के आए थे। वह भी खराब हो गया है। स्टूडेंट्स के कमरों में घुसा पानी, रात भर सोए नहीं।

महेश नगर इलाके के रहने वाले प्रकाश चंद्र शर्मा ने बताया- इस इलाके में कई बार पार्षदों से शिकायत करने के बाद भी नालियों का निर्माण नहीं करवाया गया। सड़क बनाते वक्त भी ऊंचाई का ध्यान नहीं रखा गया। इसके कारण लोगों के घरों में पानी घुस गया। गलियों में हमेशा पानी भरा रहता है। इसकी वजह से लोगों को आने-जाने में तो परेशानी का सामना करना ही पड़ रहा है। साथ ही मच्छर पनपन रहे हैं। कई मौसमी बीमारियों का भी खतरा है।

लोकेशन 3 – केंद्रीय विद्यालय की क्लास में घुसा पानी
बजाज नगर स्थित केंद्रीय स्कूल(केवी-1) में भी पानी भर गया। आनन-फानन में स्कूल प्रशासन ने तुरंत ही सभी बच्चों को स्कूल की पहली मंजिल पर शिफ्ट करवा दिया। केंद्रीय विद्यालय के प्रिंसिपल अरविंद कुमार ने बताया- हमने छोटे बच्चों की पहले ही छुट्टी कर दी थी। बारिश के दौरान ढाई फीट तक स्कूल में पानी भर गया था।

%name मुसलाधार बारिस से जयपुर में बिगड़े हालात, महेश नगर में स्टूडेंट्स के कमरे में घुसा पानी, प्रोफ़ेसर मीणा की स्टूडेंट्स को आर्थिक सहयोग की माँग, परकोटे की सड़कें नदी बनी
बजाज नगर स्थित केंद्रिय विद्यालय में पानी भरने के बाद स्टूडेंट्स को पहली मंजिल पर शिफ्ट करना पड़ा। दरअसल, बारिश के दौरान यूनिवर्सिटी, बापू नगर और गौतम नगर का पानी स्कूल से होते हुए गांधी नगर रेलवे स्टेशन की तरफ निकल जाता है।
इसके लिए एक नाला भी नगर निगम ने स्कूल के पास बनाया है, लेकिन नाले की सफाई ठीक से नहीं होने के कारण पानी बच्चों की क्लास में घुस गया। स्कूल में पानी भरता देख प्राइमरी क्लास के बच्चों की इंटरवल में ही छुट्टी कर दी गई।
अरविंद कुमार ने कहा कि पानी इतनी पड़ी मात्रा में आता है, इसके लिए नाला पर्याप्त नहीं है। यहां कचरा भी जम जाता है। बारिश बंद होने के बाद भी यहां यूनिवर्सिटी से पानी आता रहता है।

लोकेशन 3- परकोटे की सड़कें नदी बनी
जयपुर के परकोटे में सड़कें नदी बन गईं। जौहरी बाजार में तीन से चार फीट तक पानी भर गया। इसकी वजह से बाजार लगभग ठप रहा। जौहरी बाजार व्यापार मंडल के अध्यक्ष अजय अग्रवाल ने बताया कि नगर निगम द्वारा करोड़ों के काम का ठेका हुआ।

निगम के कर्मचारियों ने नालों की सफाई भी शुरू की, लेकिन सफाई के नाम पर खानापूर्ति कर पूरे इलाकों को डूबने के लिए छोड़ दिया गया। उन्होंने कहा- निगम की ओर से सीवर की सफाई में लापरवाही बरती गई है।

कहीं-कहीं पर नालों की सफाई हुई, वहीं पूरे नालों को ऐसे ही छोड़ दिया गया। आज भी बारिश में जौहरी बाजार के अधिकतर दुकानों में पानी घुस गया। इसके कारण व्यापारियों का काफी नुकसान हुआ है। जौहरी बाजार में सड़कों पर एक से 2 फीट पानी भर गया। इसकी वजह से सब्जी-फल वालों को काफी परेशानी हुई।

लोकेशन 4- झोटवाड़ा
जयपुर के झोटवाड़ा इलाके में 200 फीट बाईपास रोड पर खिरनी फाटक पुलिया के नीचे पानी भर गया। स्थानीय निवासी शिवराज सिंह शेखावत ने बताया- इस पुलिया के नीचे बारिश के मौसम में हमेशा पानी भरा रहता है। बारिश का पानी जमा होने से सड़क पर बिछाई गई सीमेंट टाइल्स नीचे बैठ गई।

इससे सड़क पर एक से डेढ़ फीट गड्ढा हो गया। इस गड्ढे में सड़क से निकलने वाले वाहन चालक गिरकर घायल होते रहते हैं। सोमवार सुबह कालवाड़ रोड से आने वाली एक ट्रैक्टर ट्रॉली गड्ढे के कारण पलटी मार गई। हादसा सुबह के वक्त हुआ। मौके पर कोई खास आवाजाही नहीं थी, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।

खिरनी फाटक के आसपास रहने वाले स्थानीय निवासियों का कहना है कि इस सड़क पर आए दिन बाइक वाले गिरते रहते हैं। कई बार इसमें कारें फस जाती हैं, फिर किसी ना किसी को आकर उसे धक्के लगाकर निकालना पड़ता है। रविवार को इसी गड्ढे में एक ई-रिक्शा पलट गया। इससे उसमें सवार कुछ लोग भी घायल हो गए। 200 फीट बाईपास रोड खिरनी फाटक पुलिया के नीचे पानी भरा। untitled 10 1688975764 मुसलाधार बारिस से जयपुर में बिगड़े हालात, महेश नगर में स्टूडेंट्स के कमरे में घुसा पानी, प्रोफ़ेसर मीणा की स्टूडेंट्स को आर्थिक सहयोग की माँग, परकोटे की सड़कें नदी बनी

लोगों का आरोप है कि जेडीए द्वारा पिछले तीन चार महीने पहले पुलिया के दोनों तरफ सड़क बनवाई थी। इस पुलिया के नीचे की सड़क का काम नहीं करवाया गया। उन्होंने बताया कि अधिकारियों ने कहा कि यह काम हमारे अंडर में नहीं आता है। वहीं जेडीए द्वारा बनवाई गई सड़क भी अभी से ही उखड़ गई है। जयपुर में प्रभात जी के खोले में शुरू हुआ झरना। सैकड़ों शहरवासी पिकनिक मनाने पहुंचे।

जयपुर में 150 जगहों पर काम में जुटी फायर स्टेशन की टीमें
जयपुर के फायर स्टेशन सीएफओ राजेंद्र ने बताया- हमारी तरफ से बारिश को देखते हुए तैयारियां पूरी की गई हैं। इसको लेकर नगर निगम की ओर से भी अलग-अलग जगहों पर कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। इनमें वीकेआई, मालवीय नगर, मानसरोवर में कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। अभी तक तो ज्यादातर शिकायतें सड़कों को लेकर ही आ रही हैं।

राजेंद्र ने बताया- अभी 150 जगह पर पानी भरने जैसी समस्याओं की शिकायत आई है। हमने मड पंपिंग मशीन लगा रखी है। वहीं काफी सारे मिट्टी के कट्टे तैयार करके रखे हुए हैं।

मदद के लिए नंबर जारी किए गए
सीएफओ राजेंद्र ने बताया- जेके लोन अस्पताल के बेसमेंट में भी पानी भरने की शिकायत आई है। लोगों की सहायता के लिए कंट्रोल रूम के नंबर भी जारी किए गए हैं। अगर किसी को कोई समस्या हो तो इन नंबरों पर कॉल करके शिकायत दर्ज करवा सकता है। हमारी टीमें तैयार हैं। लोगों तक लगातार मदद पहुंचाई जाएगी। लोग बारिश के दौरान समस्या होने पर इन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This