देशभर में दुष्कर्म के मामलों में नंबर वन राजस्थान, छोटी बच्चियों के साथ गैंगरेप की वारदात में भी इस साल 13.64 फीसदी की वृद्धि, मुख्यमंत्री स्तीफा दें – प्रोफ़ेसर मीणा

3 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 11, जुलाई 2023 | दिल्ली-जयपुर : देशभर में दुष्कर्म के मामलों में नंबर-1 रहने वाले राजस्थान में एक और डराने वाला आंकड़ा सामने आया है। यहां 10 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म के केस 2.79 फीसदी बढ़े हैं। वहीं, छोटी बच्चियों के साथ गैंगरेप की वारदात में भी इस साल 13.64 फीसदी की वृद्धि हुई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, राजस्थान रेप के मामलों में देश में पहले नंबर पर है। राजस्थान में साल 2021 में कुल 6,337 रेप के मामले सामने आए, जो साल 2020 के 5,310 के मुकाबले एक हजार ज्यादा है। रिपोर्ट के मुताबिक 2020 और 2021 में राजस्थान में सबसे अधिक रेप के मामले सामने आए हैं।

राजस्थान पुलिस की रिपोर्ट में खुलासा E ZhyeFVQAEmlN4 300x235 देशभर में दुष्कर्म के मामलों में नंबर वन राजस्थान, छोटी बच्चियों के साथ गैंगरेप की वारदात में भी इस साल 13.64 फीसदी की वृद्धि, मुख्यमंत्री स्तीफा दें   प्रोफ़ेसर मीणा

राजस्थान में 10 साल की बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामलों में 2.79 फीसदी का इजाफा हुआ है। वहीं, महिलाओं से दुष्कर्म के मामलों में 4.37 फीसदी की कमी आई है। ये खुलासा हाल ही में राजस्थान पुलिस की रिपोर्ट में हुआ है।

हालांकि, पिछले साल के मुकाबले इस साल महिलाओं के साथ हुईं दुष्कर्म की घटनाओं में 4.37 प्रतिशत की कमी आई है। लेकिन, सबसे चिंताजनकक और डराने वाली बात ये है कि बच्चियों के साथ दुष्कर्म और गैंगरेप के मामले साल दर साल बढ़ते जा रहे हैं। ये खुलासा राजस्थान पुलिस की जून-2023 तक की मासिक रिपोर्ट में हुआ है।

हर साल बढ़ रहा आंकड़ा
राजस्थान पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार जून 2023 तक प्रदेश में 10 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म के 848 मामले सामने आईं। साल 2022 में ये आंकड़ा 825 और साल 2021 में 694 था। यानी साल दर साल मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी की घटनाएं बढ़ रही हैं। 2023 में बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामले 2.79 प्रतिशत बढ़े हैं।

महिलाओं से दुष्कर्म के केस घटे
प्रदेश में 2023 में महिलाओं के साथ दुष्कर्म के 2558 मामले सामने आए। पिछले साल के मुकाबले इस साल ज्यादती के केस में 4.87 प्रतिशत की कमी आई है। इससे पहले 2022 में 2230 और 2021 में 2021 महिलाओं के साथ दुष्कर्म हुआ था।

यहां बच्चियों को ज्यादा खतरा
बीकानेर रेंज में नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामले सबसे ज्यादा 37.33 फीसदी बढ़े हैं। जोधपुर रेंज में 8.51, भरतपुर 4.60, जयपुर रेंज में 3.20 और कोटा रेंज में 1.23 फीसदी का इजाफा हुआ है। आंकड़ों के अनुसार इन रेंज में बच्चियों को ज्यादा खतरा है।

यहां बढ़े महिलाओं से दुष्कर्म के केस
जयपुर रेंज में महिलाओं के साथ रेप की घटनाएं 7.84 प्रतिशत बढ़ी हैं। वहीं, बीकानेर रेंज में ये आंकड़ा 4.78 फीसदी है। बाकी अन्य रेंज में दुष्कर्म के मामलों में कमी आई है।

महिलाओं से जुड़े मामलों में पेंडेंसी 86.52 प्रतिशत हुई
प्रदेश में जून माह तक महिला अत्याचार के 38936 केस दर्ज हुए। पुलिस ने जांच कर 2331 मामलों में एफआर लगा दी। वहीं,  2919 मामलों में जांच के बाद अदालत में चालान पेश किया गया है। 86.52 प्रतिशत केस अभी पेंडिंग हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे
प्रोफ़ेसर राम लखन मीणा ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ख़राब हो चुकी है इसलिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। लगातार महिलाओं ओर बेटियों पर अपराधों में बढ़ोतरी हो रही है। न्याय मांगने के लिए जाने वाली बेटियां ही सुरक्षित नहीं है। अपराधी सड़कों पर ही नहीं बल्कि पुलिस व्यवस्था में भी शामिल है।

प्रोफ़ेसर मीणा ने कहा कि ऐसे में प्रदेश की महिलाएं व बेटियां अब न्याय की उम्मीद किस के सामने लगाए। बीकानेर खाजूवाला गांव तथा नागौर जैसे जिले में हुई दलित बेटी के साथ घटना इसका उदाहरण है, जबकि प्रदेश की सुरक्षा का जिम्मा स्वयं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने हाथ में ले रखा है। दुष्कर्म के ज्यादातर मामलों में पीड़िताओं के परिचित ही आरोपी हैं। ये बात भी राजस्थान पुलिस की रिपोर्ट में सामने आई है। यानी अपने ही मासूम बच्चियों को जिंदगी भर का दर्द दे रहे हैं।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This