चंद्रशेखर आजाद पर हमला करने वाले आरोपियों की जेल में पिटाई, बीजेपी पूर्व विधायक शशिबाला पुंडीर ने लिखा डीजी जेल को पत्र, क्या हमलावरों के तार बीजेपी से जुड़े हैं?

4 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 13, जुलाई 2023 | जयपुर-दिल्ली-मुजफ्फरनगर : भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद पर हुए जानलेवा हमले के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद भी विवाद नहीं थम रहा है। किसी ना किसी कारण से चंद्रशेखर पर हमले का मामला लगातार सुर्खियों में है। चंद्रशेखर पर हमला करने के आरोप में जेल में बंद चार युवकों की बंदी रक्षकों की ओर से पिटाई किए जाने के आरोप से एक बार फिर नया विवाद खड़ा हो गया है। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद पर हमले के आरोपियों की जेल में पिटाई करने का आरोप है।

maxresdefault 2023 07 14T004352.845 300x169 चंद्रशेखर आजाद पर हमला करने वाले आरोपियों की जेल में पिटाई, बीजेपी पूर्व विधायक शशिबाला पुंडीर ने लिखा डीजी जेल को पत्र, क्या हमलावरों के तार बीजेपी से जुड़े हैं?आरोपियों के परिजनों ने जिलाधिकारी और एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर बंदी रक्षकों पर जातिगत भावना से ग्रस्त होकर पिटाई करने का आरोप लगाया है।

भारतीय जनता पार्टी की पूर्व विधायक शशिबाला पुंडीर ने भी डीजी जेल को पत्र लिखकर मामले में आवश्यक कार्रवाई की मांग की है। वहीं, सहारनपुर की जेल अधीक्षक ने आरोपी बंदी रक्षकों को सस्पेंड कर मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद के हमलावरों पर जेल में हमला करने के आरोप में यूपी के दो जेल वार्डरों को निलंबित कर दिया गया है।

सहारनपुर पुलिस ने चारों आरोपियों लविश, विक्की और प्रशांत के परिजनों और करनाल हरियाणा के विकास कुमार की शिकायत पर अज्ञात जेल कर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

चंद्रशेखर आजाद पर हमले वाले आरोपियों की जेल में पिटाई

मिली जानकारी के मुताबिक, महानिदेशक (डीजी), जेल, एस.एन. साबत ने शुक्रवार को पुष्टि की कि दो जेल वार्डर नरेश कुमार वर्मा और करणवीर सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि दोनों वार्डरों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की सिफारिश की गई है, इसके साथ ही मुजफ्फरनगर जिला जेल के अधीक्षक को घटना की जांच करने को कहा गया है।

आरोप लगाया कि बंदी रक्षक नरेश और कर्मवीर ने युवकों के साथ मारपीट और गाली-गलौच की है। चारों युवकों का मेडिकल कराकर बंदी रक्षकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। वहीं, वरिष्ठ जेल अधीक्षक अमिता दुबे ने दोनों बंदी रक्षकों को निलंबित करने का आदेश दिया है। 867a9 300x176 चंद्रशेखर आजाद पर हमला करने वाले आरोपियों की जेल में पिटाई, बीजेपी पूर्व विधायक शशिबाला पुंडीर ने लिखा डीजी जेल को पत्र, क्या हमलावरों के तार बीजेपी से जुड़े हैं?

चंद्रशेखर आजाद पर हमले वाले आरोपियों की जेल में पिटाई, दो बंदी रक्षक सस्पेंड

एक अन्य जेल अधिकारी ने कहा कि इससे पहले जैसे ही जेल के कैदियों ने उन पर मारपीट और दुर्व्यवहार का आरोप लगाया था, दोनों वार्डरों को उनके कर्तव्यों से हटा दिया गया था।

जेल अधिकारियों ने कहा कि यह घटना देवबंद उप-जेल के एक डिप्टी जेलर पर हुए हमले का नतीजा थी क्योंकि 4 कैदियों में से एक लविश कथित तौर पर पहले वहां बंद रहने के दौरान शामिल था।

गौरतलब है कि 28 जून को देवबंद में एक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद जब चंद्र शेखर एसयूवी से सहारनपुर जा रहे थे, तब उन पर गोली चलाई गई थी। हमले में गोली उनकी कमर को छूती हुई निकल गई और उनका वाहन क्षतिग्रस्त हो गया था।

बंदी रक्षकों पर लगाया मारपीट का आरोप

सहारनपुर जेल में बंद आरोपी युवकों के परिजनों ने जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र दिया है। आरोप लगाया है कि बंदी रक्षकों ने चारों आरोपियों की पिटाई की।

जातिगत भावना से ग्रस्त होकर बंदी रक्षकों नरेश और कर्मवीर ने चंद्रशेखर पर हमले के आरोप में जेल में बंद लविश, विक्की, प्रशांत और विकास आदि की पिटाई की गई है। आरोपियों ने युवकों को धमकाया भी है। परिजनों ने प्रार्थना पत्र में मामले की निष्पक्ष जांच और आरोपी बंदी रक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

%name चंद्रशेखर आजाद पर हमला करने वाले आरोपियों की जेल में पिटाई, बीजेपी पूर्व विधायक शशिबाला पुंडीर ने लिखा डीजी जेल को पत्र, क्या हमलावरों के तार बीजेपी से जुड़े हैं?आरोप है कि दोनों बंदी रक्षक अनुसूचित जाति से है। इसलिए युवकों की पिटाई की गई है। पूर्व विधायक ने मामले में आरोपियों के खिलाफ डीजी जेल से कार्रवाई की मांग की है। वहीं, आरोपियों के परिवार के सदस्य सलोचना, प्रदीप, विक्रम और प्रमोद ने जिलाधिकारी को पत्र देकर बंदी रक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

पूर्व विधायक शशिबाला पुंडीर ने लिखा डीजी जेल को पत्र

चंद्रशेखर पर जानलेवा हमले के आरोप में जेल में बंद 4 आरोपियों की बंदी रक्षकों की ओर से पिटाई किए जाने के मामले में देवबंद से भाजपा की पूर्व विधायक शशिबाला पुंडीर ने डीजी जेल को पत्र लिखा है। आरोप लगाया कि बंदी रक्षक और चंद्रशेखर सजातीय हैं। इसी के चलते जातिगत भावना से ग्रस्त होकर बंदी रक्षकों ने आरोपी युवकों की पिटाई की है। पूर्व विधायक ने एडीजी जेल से आरोपी बंदी रक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

हमलवारों के तार बीजेपी नेताओं से तो जुड़े नहीं

इसके बाद शक यह हो रहा है कि हमलवारों के तार बीजेपी नेताओं से तो जुड़े नहीं हैं। इसीलिए भीम आर्मी आजाद समाज पार्टी कांशीराम के शीर्ष नेताओं ने प्रकरण की जाँच सीबीआई से करवाने और आरोपियों के नार्को टेस्ट की माँग की है और अपनी माँग मनवाने के लिए 21जुलाई को दिल्ली में जंतर-मंतर पर महा आंदोलन किया जा रहा है।

दोनों बंदी रक्षक सस्पेंड, मामले की जांच के आदेश

कथित पिटाई को जेल अधीक्षक ने गंभीरता से लिया है। जेल अधीक्षक अमिता दुबे ने दोनों बंदी रक्षकों नरेश और कर्मवीर को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। इस संबंध में जेल अधीक्षक ने बताया कि बंदी रक्षकों की ओर से युवकों की पिटाई का आरोप है। मामले की जांच बैठा दी गई है। मामले में आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This