जल जीवन मिशन से भ्रष्टाचार मिशन तक, पीएचईडी अफसरों को एसीबी ने रंगे हाथ दबोचा, ठेकेदार से एमएनआईटी एक्सपट्‌र्स की सील मिली

3 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 08, अगस्त 2023 | जयपुर-बानसूर-दिल्ली : जयपुर में रिश्वत लेते पकड़े गए अलवर और नीमराना के पीएचईडी अफसरों के मामले में एसीबी ने सभी आरोपियों को 10 अगस्त तक कोर्ट रिमांड पर ले लिया है। वहीं, एसीबी को जांच में दोनों अफसरों के साथ पकड़े गए ठेकेदार पदमचंद जैन के ऑफिस से बड़ी संख्या में सरकारी अधिकारियों की सील मिली है। इनमें से कुछ मोहरें एमएनआईटी के एक्सपट्‌र्स की हैं।

ठेकेदार से एमएनआईटी के विशेषज्ञों की मोहर मिलने के मामले में एसीबी मंगलवार को जांच करेगी। साथ ही एक्सपट्‌र्स से मोहरों को लेकर पूछताछ करेगी। इस मामले में अब तक तीन इंजीनियर समेत कुल 6 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। जबकि एक व्यक्ति फरार है।

ezgifcom resize 2 1691477457 जल जीवन मिशन से भ्रष्टाचार मिशन तक, पीएचईडी अफसरों को एसीबी ने रंगे हाथ दबोचा, ठेकेदार से एमएनआईटी एक्सपट्‌र्स की सील मिली
एसीबी के एडीजी हेमंत प्रियदर्शी ने बताया- ठेकेदार और सरकारी अधिकारियों के कार्यालय व घरों में अभी भी सर्च चल रहा है। अब तक की जांच में सामने आया है कि ठेकेदार के घर पर ही बिल बन कर तैयार होते थे। यहीं पर बैठकर बिलों पर अधिकारी साइन किया करते थे। ठेकेदार से पैसा लिया करते थे।

ये मोहर अधिकारियों की मंजूरी के बाद ही यहां पर रखी गई थी। PHED के बहरोड़ ऑफिस में कार्यरत एक्सईएन मायालाल सैनी, एईएन राकेश चौहान, जेईएन प्रदीप, ठेकेदार पदमचंद जैन और ठेकेदार की कंपनी के कर्मचारी मलकेत सिंह व प्रवीण कुमार से पूछताछ चल रही है।

इस रिश्वत कांड से जुड़ा एक ठेकेदार महेश मित्तल एसीबी की कार्रवाई के बाद से फरार है। महेश मित्तल के घर और ठिकानों पर देर रात तक एसीबी के अधिकारियों ने सर्च किया, जहां से भी एसीबी को कई जानकारी मिली हैं।

ठेकेदार के ऑफिस में जल जीवन मिशन के सरकारी दस्तावेज
ठेकेदार पदमचंद जैन के ऑफिस में सरकारी मोहर के साथ-साथ सरकार के जल जीवन मिशन के दस्तावेज भी मिले हैं। ठेकेदार और PHED का एक सीनियर अधिकारी अभी एसीबी की गिरफ्त में नहीं आया है। जो एसीबी की रडार पर है।

एसीबी की पूछताछ में एक आरोपी ने बड़े घर का भी जिक्र किया है। वहां पर पैसा कैसे जाता है। उसकी जानकारी उन्हें नहीं है। जांच में तय हो गया है कि ठेकेदार के आवास पर पैसे का लेनदेन होता था। अधिकारी किस डर या दबाव से ठेकेदार पदमचंद जैन के कार्यालय में आकर साइन कर रिश्वत लिया करते थे, इसका खुलासा होना अभी बाकी है।

एसीबी के अधिकारियों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया- एक ठेकेदार के आगे अधिकारियों का इस तरह से झुकने का कारण कोई भी समझ सकता है। आखिर ठेकेदार पदमचंद की इस विभाग में पिछले काफी समय से अच्छी पैठ रही है। उस पर कई नेताओं का हाथ रहा है। पदमचंद अपनी इसी पहुंच का फायदा उठाते हुए PHED के अधिकारियों के तबादले भी करवाता था। इससे भी ठेकेदार का विभाग में डर था। रविवार शाम गिरफ्तारी के बाद पीएचईडी के इंजीनियरों को एसीबी मुख्यालय ले जाया गया था।f86feacb 0841 4834 a141 af6f97f70b2c 1691482946 जल जीवन मिशन से भ्रष्टाचार मिशन तक, पीएचईडी अफसरों को एसीबी ने रंगे हाथ दबोचा, ठेकेदार से एमएनआईटी एक्सपट्‌र्स की सील मिली

ठेकेदार के घर था पूरा पीएचईडी कार्यालय

एसीबी को सर्च के दौरान ठेकेदार पदमचंद के पास जितने दस्तावेज मिले हैं। उतने डॉक्युमेंट एक एक्सईएन के ऑफिस में भी नहीं रहते हैं। पदमचंद के कार्यालय में सरकारी डायरी, नोट शीट, सरकारी मोहर (हर अधिकारी की), मेजरमेंट बुक और सरकारी फाइलें मिली हैं। ठेकेदार के घर से मिले इन दस्तावेजों से एसीबी को लग रहा था कि पूरा पीएचईडी विभाग चल रहा था।

ये है मामला

गौरतलब है कि एसीबी ने रविवार देर शाम 2.20 लाख रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में एक्सईएन मायालाल सैनी और जेईएन प्रदीप को गिरफ्तार किया था। साथ ही ठेकेदार पदमचंद जैन और उसकी कंपनी के दो कर्मचारी मलकेत सिंह व प्रवीण कुमार को भी पकड़ा था।

एक्सईएन और जेईएन 2 लाख रुपए लेते गिरफ्तार, ठेकेदार के होटल में बैठकर बनते थे बिल

गिरफ्तार एक्सईएन मायालाल सैनी(बाएं) व जेईएन प्रदीप(दाएं)।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने रविवार देर रात अलवर और नीमराना के पीएचईडी अफसरों को जयपुर में 2.20 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। दोनों को होटल पोलो विक्ट्री के पास से पकड़ा गया।

बिल पास करने के एवज में रिश्वत ली जा रही थी। एसीबी ने कार्रवाई के दौरान रिश्वत देने वाले ठेकेदार और दो दलालों को भी दबोचा है। कुछ अन्य लोगों की भी भूमिका सामने आई है, जिसे लेकर जांच की जा रही है। मामला जल जीवन मिशन से जुड़ा है।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This