ब्रेकिंग न्यूज़ : RU में धरना दे रहे एक युवक और एक युवती की बिगड़ी तबियत, पेपर लीक मामले में एक्टिव हुई ED, 5 आरोपी ईडी रिमांड पर

4 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 11 जनवरी 2024 | जयपुर – दिल्ली – अजमेर : राजस्थान में राजस्थान प्रशासनिक सेवा भर्ती परीक्षा को लेकर युवाओं का विरोध लगातार बढ़ता जा रहा है। आरएएस मुख्य भर्ती परीक्षा को आगे बढ़ाने की मांग को लेकर पिछले 48 घंटे से राजस्थान यूनिवर्सिटी में धरना दे रहे छात्रों ने सरकार के खिलाफ आमरण अनशन शुरू कर दिया है। इसके बाद गुरुवार को 2 प्रदर्शनकारियों (एक युवक और एक युवती) की तबीयत बिगड़ गई।

%name ब्रेकिंग न्यूज़ : RU में धरना दे रहे एक युवक और एक युवती की बिगड़ी तबियत, पेपर लीक मामले में एक्टिव हुई ED, 5 आरोपी ईडी रिमांड पर
सरकार के खिलाफ अनशन पर बैठे छात्रों की तबीयत बिगड़ गई है। जिसके बाद उन्हें सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

जिन्हें उपचार के लिए सवाई मानसिंह अस्पताल में एडमिट करवाया गया है। आंदोलन कर रहे छात्रों ने आरोप लगाया कि सरकार तानाशाही करते हुए युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। ऐसे में जब तक सरकार भर्ती परीक्षा की तारीख को आगे नहीं बढ़ाएगी हमारा आंदोलन जारी रहेगा।

राजस्थान यूनिवर्सिटी में धरने पर बैठे युवाओं ने कहा कि इतिहास में पहली बार मेंस परीक्षा के लिए 3 महीने से कम वक्त दिया जा रहा है। जो न सिर्फ युवाओं बल्कि राजस्थान के प्रशासनिक भविष्य के लिए भी ठीक नहीं है। इसके बाद सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक युवाओं ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सोशल मीडिया प्लेटफ्रॉम X पर भर्ती परीक्षा की तारीख आगे बढ़ाने का हैश टैग ट्रेंड कर रहा है।

%name ब्रेकिंग न्यूज़ : RU में धरना दे रहे एक युवक और एक युवती की बिगड़ी तबियत, पेपर लीक मामले में एक्टिव हुई ED, 5 आरोपी ईडी रिमांड पर
राजस्थान प्रशासनिक मुख्य भर्ती परीक्षा की तारीख आगे बढ़ाने की मांग को लेकर धरना दे रहे छात्रों में से पांच छात्रों ने सरकार के खिलाफ आमरण अनशन शुरू कर दिया है।

इसके साथ ही सोशल मीडिया पर अभ्यर्थियों ने खून से लेटर लिखने के साथ ही प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर मेंस परीक्षा की तारीख आगे बढ़ने की मांग की है। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कहा- इस बार मेंस परीक्षा के लिए 3 महीने से भी कम का वक्त दिया गया है। जो तैयारी के लिए पर्याप्त नहीं है। ऐसे में अगर सरकार ने भर्ती परीक्षा के शेड्यूल में संशोधन कर हमें तैयारी के लिए ज्यादा वक्त नहीं दिया। प्रदेशभर के युवा सरकार के खिलाफ आर पार की लड़ाई लड़ेंगे।

प्रदर्शनकारी अभ्यर्थियों ने आरोप लगाए की सरकार बदलने के बाद भी वही पेपर बनाने वाले विशेषज्ञ हैं। इनकी भूमिका संदिग्ध है। ऐसे में उन्हें बदला जाए। नए सिरे से प्रिंटिंग और पेपर बनाने का काम किया जाए। सरकारी सेवा में काम करने वाले परीक्षार्थियों की चुनाव में ड्यूटी लगने की वजह से उन्हें तैयारी का पर्याप्त वक्त नहीं मिल पाया। प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा के बीच कम से कम 3 महीने का वक्त रहना चाहिए। इन सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए RAS मुख्य भर्ती परीक्षा की तारीख को आगे बढ़ाया जाए।

gdean2kxsaaioq1 1704969064 ब्रेकिंग न्यूज़ : RU में धरना दे रहे एक युवक और एक युवती की बिगड़ी तबियत, पेपर लीक मामले में एक्टिव हुई ED, 5 आरोपी ईडी रिमांड पर
राजस्थान यूनिवर्सिटी में प्रचंड ठंड के बावजूद बड़ी संख्या में छात्र धरने पर बैठे हुए हैं।

बता दें कि राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा RAS मुख्य भर्ती परीक्षा का आयोजन 27 और 28 जनवरी को किया जा रहा है। इसके खिलाफ प्रदेश पर में युवाओं ने सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक अभियान शुरू कर दिया है। जिसके समर्थन में अब तक 20 विधायकों ने भी सरकार को पत्र लिख दिया है। बावजूद इसके राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा भर्ती परीक्षा की तारीख में अब तक कोई बदलाव नहीं किया गया है।

पेपर लीक मामले में एक्टिव हुई ED

पेपर लीक मामले में ईडी एक बार फिर से एक्टिव हो गई हैं। ईडी ने गुरुवार को पेपर लीक मामले में जेल में बंद पांच आरोपियों को पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया है। ईडी ने जयपुर कोर्ट के सामने इन सभी पांच आरोपियों को पेश किया। तीन दिन का रिमांड लिया। जानकारी के अनुसार ईडी निष्कर्म तक पहुंच चुकी है। इसलिए इस केस के मुख्य आरोपियों को रिमांड पर लिया जा रहा है। इसके बाद ईडी कोर्ट के सामने चालान पेश करेगी।

दरअसल, पेपर प्रकरण के मास्टर माइंड सुरेश साहू, विजय डामोर, पुखराज, पीराराम,और अरूण शर्मा को ED ने रिमांड पर लिया है। आरोपी सुरेश साहू पेपर लीक के सरगना सुरेश ढाका का जीजा है। वहीं, विजय डामोर आरपीएससी मेंबर बाबूलाल कटारा का भतीजा है। विजय डामोर में ही पेपर लीक किया था। RPSC का मूल पेपर के सभी सवालों को इसी डामोर ने एक डायरी में लिखे थे। इसके बाद आरोपी ने अन्य लोगों से सम्पर्क कर पेपर को 10 से 15 लाख रुपए में बेचा था।

जोधपुर, बीकानेर और अजमेर की जेल से गिरफ्तार किए गए आरोपी

दरअसल, सुरेश साहू, विजय डामोर और पुखराज को ईडी ने जोधपुर जेल से बुधवार को गिरफ्तार किया गया था। वहीं, पीराराम को बीकानेर और अरुण शर्मा को अजमेर जेल से गिरफ्तार किया गया। पांचों आरोपियों को आज सुबह 11 बजे कोर्ट में पेश किया गया। इस पर कोर्ट ने इन सभी को तीन दिन के लिए ईडी को रिमांड पर सौंप दिया। ईडी की जांच में ये सभी आरोपी पेपर लीक के मुख्य सरगना हैं। सभी आरोपियों को ईडी जयपुर मुख्यालय लेकर आ गई हैं। अब तीन दिनों तक ईडी इन सभी आरोपियों से पूछताछ करेगी।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This