मुस्लिम पक्ष का बंद का आह्वान, 1700 नमाजी ज्ञानवापी पहुंचे, लॉ एंड ऑर्डर मेंटेन रखने का आदेश, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार

4 min read
मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 02 जनवरी 2024 | जयपुर – दिल्ली – वाराणसी – इलाहाबाद : यह विजुअल ज्ञानवापी के बाहर के शुक्रवार के हैं। यहां करीब 1700 नमाजी पहुंचे। इससे हाउसफुल जैसी स्थिति बन गई। ज्ञानवापी के व्यास तहखाने में पूजा-पाठ जारी रहेगा। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मुस्लिम पक्ष की याचिका पर पूजा पर रोक लगाने का आदेश नहीं दिया है। कोर्ट ने एडवोकेट जनरल को लॉ एंड ऑर्डर मेंटेन रखने का आदेश भी दिया है। इस मामले में अब अगली सुनवाई 6 फरवरी को होगी।

comp 32 1706859534 मुस्लिम पक्ष का बंद का आह्वान, 1700 नमाजी ज्ञानवापी पहुंचे, लॉ एंड ऑर्डर मेंटेन रखने का आदेश, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार

इससे पहले, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने व्यास तहखाने में पूजा-पाठ रोकने से जुड़ी याचिका पर तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष को पहले हाईकोर्ट जाने का सुझाव दिया था। शुक्रवार को हाईकोर्ट में दोनों पक्षों की बहस हुई। ​इसके बाद जज की पीठ ने एजी से वाराणसी की स्थिति के बारे में भी जानकारी ली।

वहीं, मुस्लिम पक्ष ने कोर्ट को बताया कि वाराणसी कोर्ट ने 7 दिन में पूजा की व्यवस्था तहखाने में करने का निर्देश दिया था। हालांकि, डीएम ने महज 7 घंटे में ही पूजा की प्रक्रिया शुरू करा दी। इससे वहां अफरातफरी मच गई। हाईकोर्ट ने हिंदू पक्ष से पूछा कि पूजा के लिए अभी एप्लिकेशन डालने की जरूरत क्या थी?

हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने कहा कि ASI के सर्वे में तहखाने का दरवाजा नहीं मिला। कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष से पूछा कि तहखाने का दरवाजा कहां गया? काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर 4 से सभी वाहनों के प्रवेश रोक दिया गया।

मुस्लिम पक्ष का बंद का आह्वान, 1700 नमाजी ज्ञानवापी पहुंचे

इससे पहले व्यास तहखाने में पूजा-पाठ शुरू होने से नाराज मुस्लिम पक्ष ने शुक्रवार को जुमे पर वाराणसी बंद का आह्वान किया। मस्जिदों में जुटने की अपील की थी।

इसके बाद, शुक्रवार की नमाज में 1700 लोग नमाज पढ़ने ज्ञानवापी पहुंच गए। जबकि सामान्य तौर पर यहां 300 से 500 लोग पहुंचते थे। अंदर परिसर फुल होने के बाद पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के चलते नमाजियों को बाहर ही रोक दिया।

comp 2 1 1706852595 मुस्लिम पक्ष का बंद का आह्वान, 1700 नमाजी ज्ञानवापी पहुंचे, लॉ एंड ऑर्डर मेंटेन रखने का आदेश, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार

पुलिस ने उनसे आसपास की मस्जिद में जाने की अपील की। पुलिस ने वहां अनाउंसमेंट भी कराया। मुस्लिम पक्ष ने भी लोगों से यह अपील की। कोर्ट द्वारा दर्शन पूजन की अनुमति मिलने के बाद आज पहला शुक्रवार। अंजुमन कमिटी के बंदे के ऐलान के बाद बड़ी संख्या में नमाजी ज्ञानवापी पहुंच रहे हैं।

fotojet 2024 02 02t114641489 1706854631 मुस्लिम पक्ष का बंद का आह्वान, 1700 नमाजी ज्ञानवापी पहुंचे, लॉ एंड ऑर्डर मेंटेन रखने का आदेश, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार
गोदौलिया चौक पर भी पुलिस कर रही गस्त। शुक्रवार को नमाज पढ़ने के लिए जाते लोग।
comp 24 1706856626 मुस्लिम पक्ष का बंद का आह्वान, 1700 नमाजी ज्ञानवापी पहुंचे, लॉ एंड ऑर्डर मेंटेन रखने का आदेश, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार

अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी का बंद का आह्वान

ज्ञानवापी के व्यास तहखाने में पूजा-पाठ के विरोध में मस्जिद इंतजामिया कमेटी ने काशी बंद का शुक्रवार को आह्वान किया था। कमेटी ने कहा था कि ज्ञानवापी के दक्षिणी तहखाने में पूजा पाठ की अनुमति से मुसलमानों में रोष है। शुक्रवार को जुमा के दिन अपना कारोबार बंद रखकर मस्जिदों में नमाज पढ़ेंगे।

कमेटी ने यह भी दावा किया कि 1993 तक तहखाने में पूजा-पाठ की बात गलत है। वहां कोई पूजा-पाठ नहीं हुई। मुस्लिम पक्ष अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने मुसलमानों से शांतिपूर्वक नमाज की अपील की थी।

इसे देखते हुए गुरुवार रात से ही ज्ञानवापी के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी। ड्रोन कैमरे से निगरानी की जा रही है। अंजुमन इंतजामिया कमेटी के जॉइंट सेक्रेटरी मो. यासीन भी ज्ञानवापी पहुंचे।

जॉइंट सेक्रेटरी भी ज्ञानवापी पहुंचे

अंजुमन इंतजामिया कमेटी के जॉइंट सेक्रेटरी मो. यासीन भी ज्ञानवापी पहुंचे। मीडिया के रोकने पर यासीन ने कहा कि मेरी कोई नाराजगी नहीं है, मैं हाथ जोड़ता हूं, नमाज का वक्त है, जाने दीजिए। इससे पहले गुरुवार देर रात तक प्रशासनिक अफसरों ने दोनों समुदाय के साथ बैठकें कीं।

डीसीपी, एडीसीपी और एसीपी ने अपने-अपने क्षेत्रों में बैठक की। इसके अलावा, सोशल मीडिया पर भी निगरानी रखी जा रही है। लोकल इंटेलिजेंस यूनिट भी अलर्ट मोड पर है।​​​​​ ​हाई अलर्ट के बीच पुलिस की टीमों ने अलग-अलग क्षेत्रों में रूट मार्च भी किया।

संदिग्धों से पूछताछ कर घरों में रहने की हिदायत दी गई। अफसरों ने अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है। पड़ोसी जिले गाजीपुर-चंदौली से भी फोर्स मंगाई गई है। अलर्ट को लेकर गोदौलिया चौक पर फायर ब्रिगेड की टीम तैनात है।

fotojet 2024 02 02t115045464 1706854857 मुस्लिम पक्ष का बंद का आह्वान, 1700 नमाजी ज्ञानवापी पहुंचे, लॉ एंड ऑर्डर मेंटेन रखने का आदेश, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार

व्यास तहखाने में शुक्रवार को हुई पूजा

वहीं, दूसरी तरफ शुक्रवार को व्यास तहखाने में स्थापित विग्रह की पूजा की गई। भोर में 3:30 बजे मंगला आरती संपन्न हुई। जो दर्शनार्थी काशी विश्वनाथ का दर्शन कर रहे हैं, वे व्यास जी तहखाने का भी 20-22 फीट दूर से दर्शन कर रहे हैं। तहखाने के एंट्री पर बैरिकेडिंग की गई है। पुलिस बल तैनात है। खुद पुलिस कमिश्नर अशोक मुथा जैन मौके पर मौजूद रहे हैं। इससे पहले ​​​​​​तहखाने में 31 साल बाद बुधवार देर रात 11 बजे मूर्तियां रख कर पूजा-अर्चना की गई।

वहीं, मुस्लिम पक्ष के बंद का संतों ने विरोध किया। अखिल भारतीय संत समिति ने वाराणसी बंद का विरोध किया। स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती ने कहा कि देश संविधान से चलेगा। वाराणसी बंद का ऐलान कोर्ट की अवमानना है। ज्ञापवापी के व्यास तहखाने में मूर्तियों का दर्शन करने लोग पहुंचने लगे हैं। यह फोटो गुरुवार की है।

गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार

गुरुवार को अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने यथास्थिति मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। याचिका में पूजा रोकर लाने की मांग की थी। गुरुवार को ही याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This