ऑपरेशन लोटस के डर से दहशत में कांग्रेस विधायक, टूट के डर से कांग्रेस के विधायकों को दिल्ली से हैदराबाद ले जाने की चर्चा

3 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 04 जनवरी 2024 | जयपुर – दिल्ली – पटना : बिहार कांग्रेस को ऑपरेशन लोटस का डर सता रहा है। टूट के डर से कांग्रेस के विधायकों को दिल्ली से हैदराबाद ले जाने की चर्चा है। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा लीड कर रहे हैं। सभी विधायकों को चार्टर्ड प्लेन से जाया जाएगा। सिद्धार्थ, मनोहर और एक मुस्लिम विधायक इस टीम में शामिल नहीं हैं।

ऑपरेशन लोटस के डर से दहशत में कांग्रेस विधायक

M469 300x250 ऑपरेशन लोटस के डर से दहशत में कांग्रेस विधायक, टूट के डर से कांग्रेस के विधायकों को दिल्ली से हैदराबाद ले जाने की चर्चाकांग्रेस विधायकों को बिहार विधानसभा का बजट सत्र शुरू होने पर बुलाया जाएगा। 12 फरवरी से सत्र शुरू हो रहा है, उसी दिन एनडीए की सरकार अपना बहुमत साबित करेगी।

दरअसल, कांग्रेस की बैठक दिल्ली में शनिवार की शाम हुई थी। इसमें बिहार कांग्रेस के सभी 19 विधायक मौजूद रहे। कहा जा रहा है कि विधायकों को दिल्ली इसलिए बुलाया गया था कि बिहार में हो रहे संभावित खेल से उनको बचाकर रखा जाए।

दलबदल से बचने के लिए 19 में से 13 को टूटना होगा

बिहार में कांग्रेस के 19 विधायक हैं। इनमें से 12 विधायक खांटी कांग्रेसी हैं। दलबदल में विधायकी कायम रखते हुए 13 का टूटना जरूरी होगा। सामने लोकसभा का चुनाव है। एनडीए गठबंधन लोकसभा चुनाव लड़ने का मौका देने के साथ ही मंत्री पद का लोभ भी कांग्रेस विधायकों को दे सकता है।

तेजस्वी यादव ने पहले ही कह दिया है कि खेला तो बिहार में अब शुरू होगा। दूसरी तरफ एनडीए घटक दल हम पार्टी के सुप्रीमो जीतन राम मांझी एक और मंत्री पद की मांग कर चुके हैं।

वे आगे कुछ भी फैसला ले सकते हैं। इसलिए एनडीए की नजर महागठबंधन की पार्टियों पर है। शनिवार को दिल्ली में हुई बैठक में बिहार कांग्रेस के विधायक, एमएलसी और दूसरे नेता।

टूट के डर से कांग्रेस के विधायकों को दिल्ली से हैदराबाद ले जाने की चर्चा

  • दलबदल कानून से बचते हुए अगर कांग्रेस के विधायक टूटते हैं तो बिहार कांग्रेस से 19 में से 13 विधायकों को एक साथ दूसरी पार्टी में जाना होगा। यह संख्या छोटी नहीं है। fotojet 6 1707028225 ऑपरेशन लोटस के डर से दहशत में कांग्रेस विधायक, टूट के डर से कांग्रेस के विधायकों को दिल्ली से हैदराबाद ले जाने की चर्चा
  • कांग्रेस में कोई ऐसा चहेता नहीं है जिसे मंत्री बना दिया जाए तो 12 विधायक उसके साथ चले जाएंगे। कांग्रेस तभी टूट सकती है जब सभी टूटने वाले 12 विधायकों को मंत्री पद या लोकसभा चुनाव का टिकट मिले! सड़क पर आकर विश्वास की राजनीति करने का जोखिम कौन उठाएगा।
  • बिहार कांग्रेस में 19 में से 12 विधायक खांटी कांग्रेसी बैकग्राउंड से हैं। इनमें से 7 विधायक ही ऐसे हैं, जिनका दल बदलने का इतिहास रहा है।

बिहार कांग्रेस विधायक दल के नेता डॉ. शकील अहमद खान ने भास्कर को बताया- बेंगलुरु या अन्य कहीं जाने की बात तो नहीं है। मैं तो दिल्ली के बिहार निवास में ही हूं। कहीं जाना होता तो मैं भी जाता। कांग्रेस विधायक दल के नेता डॉ. शकील अहमद खान ने कहा कि विधायकों के कहीं जाने की बात नहीं है।

ऑपरेशन लोटस का क्या है मतलब

2008 में ऑपरेशन लोटस शब्द पहली बार कर्नाटक में सियासी उठा-पटक के दौरान चर्चा में आया था। वैसे ऑपरेशन लोटस बीजेपी का कोई अभियान नहीं है, बल्कि विपक्ष जोड़-तोड़कर बनाने की बीजेपी की कवायद को ऑपरेशन लोटस कहा जाता है।

बिहार में 12 फरवरी को एनडीए की सरकार बहुमत साबित करेगी, ऐसे में कांग्रेस को डर है कि उसके विधायकों को तोड़ने की कोशिश हो सकती है। डिप्टी सीएम विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस में लोग डरे हुए हैं।

विधायक बंधुआ मजदूर नहीं- विजय सिन्हा

बिहार कांग्रेस में टूट के डर को लेकर डिप्टी सीएम विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस में लोग डरे हुए हैं। उन्हें अपने विधायकों पर भरोसा नहीं है। वो विधायकों का अपमान करते हैं। कांग्रेस को इस सोच से मुक्त होना चाहिए कि विधायक एक बंधुआ मजदूर है। विधायक जनता का फैसला लाते हैं और उन्हें अपना निर्णय स्वयं लेने में सक्षम होना चाहिए।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This