किरोड़ी लाल मीणा की राजनीतिक जमीं क्यों खिसकी, किरोड़ी बोले ‘शर्म आनी चाहिए तुम्हें, यही मेरा भाषण है’

वस्तुत: बीजेपी द्वारा मीणा समाज की आशा के अनुरूप डॉ किरोड़ी लाल मीणा को मुख्यमंत्री या गृहमंत्री नहीं बनाने को लेकर रोष व्याप्त है एयर इसी वजह से मीणा समाज बीजेपी का जानी दुश्मन बन चुका है जिसका परिणाम पूर्वी राजस्थान में बीजेपी को भुगतना पड़ सकता है। 

किरोड़ी लाल मीणा की राजनीतिक जमीं क्यों खिसकी

MOOKNAYAKMEDIA Copy 25 Copy Copy 300x195 किरोड़ी लाल मीणा की राजनीतिक जमीं क्यों खिसकी, किरोड़ी बोले शर्म आनी चाहिए तुम्हें, यही मेरा भाषण हैकिरोड़ी की इस नाराजगी और तल्ख तेवरों की खूब चर्चा हो रही है। जयपुर का बस्सी विधानसभा क्षेत्र दौसा लोकसभा में आता है। बस्सी के निकट बासखो खोरी गांव में सोमवार को दौसा से बीजेपी उम्मीदवार कन्हैयालाल मीणा के समर्थन में चुनावी सभा रखी गई थी।

राजस्थान में लोकसभा चुनाव की तारीख के नजदीक आती जा रही हैं और चुनाव प्रचार परवान चढ़ रहा है। पूर्वी राजस्थान की हॉट सीट दौसा में भी बीजेपी प्रत्याशी कन्हैया लाल मीणा और कांग्रेस उम्मीदवार मुरारी लाल मीणा के बीच जबरदस्त टक्कर है।

प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों में से दौसा सीट हमेशा चर्चाओं में रही है। यहां पर अब तक 19 लोकसभा चुनाव हुए हैं, जिनमें 12 बार कांग्रेस, 4 बार बीजेपी, 2 बार स्वतंत्र पार्टी और 1 बार किरोड़ी लाल मीणा निर्दलीय के रूप में जीते हैं।

इस सभा में उम्मीद के मुताबिक भीड़ नहीं जुटी। पांडाल पूरा नहीं भरा था, कुर्सियां खाली थीं। डॉ. किरोड़ीलाल मीणा कार्यक्रम में पहुंचते ही सभा स्थल की भीड़ देखकर नाराज हो गए। राजस्थान में लोकसभा चुनाव के चलते सियासी पारा जमकर उबाल पर है। इस दौरान कैबिनेट मंत्री किरोड़ी लाल मीणा को लेकर एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

इस वीडियो को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस ने भी अपने ऑफिशियल एकाउंट्स ‘एक्स’ पर भी पोस्ट किया है। इसमें कांग्रेस की ओर से दावा किया जा रहा है कि भीड़ नहीं आने से नाराज किरोड़ीलाल मीणा मंच छोड़कर चले गए। यह मामला दौसा लोकसभा क्षेत्र का बताया जा रहा है। उधर प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भी इस वीडियो को लेकर किरोड़ी लाल मीणा पर जमकर हमला किया है।

कांग्रेस का दावा, मंच छोड़कर चले गए किरोड़ी लाल मीणा

ezgifcom resize 1 1713250843 किरोड़ी लाल मीणा की राजनीतिक जमीं क्यों खिसकी, किरोड़ी बोले शर्म आनी चाहिए तुम्हें, यही मेरा भाषण हैसोशल मीडिया पर किरोड़ी लाल मीणा का यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में किरोड़ी लाल मीणा जनसभा में बुरी तरह बिफरते हुए नजर आए। उन्होंने लोगों को फटकारते हुए स्टेज छोड़ दिया। इसको लेकर प्रदेश कांग्रेस दावा कर रही है कि दौसा की सभा में भीड़ नहीं जुड़ने से किरोड़ी लाल मीणा नाराज हो गए और सभा को संबोधित किए बिना ही चले गए।

 

इस वीडियो में किरोड़ी लाल मीणा कह रहे हैं कि मुझे शर्म आ रही है ऐसी सभा करने में और इसके बाद किरोड़ी लाल मीणा स्टेज छोड़कर जाते हुए दिखाई दिए। इस दौरान जब लोगों ने उनको समझाया तो, उन्होंने कहा कि ‘जाओ यहां से, मेरा यही भाषण है…जाओ अपने अपने घर। दरअसल, दौसा लोकसभा सीट पार्टी के लिए चुनौती बनी हुई है। यहां प्रचार की पूरी कमान डॉ किरोड़ीलाल ने संभाल रखी है। वे लगातार सभाएं कर रहे हैं और गांव-गांव में प्रचार कर रहे हैं।

किरोड़ी बोले- शर्म आनी चाहिए तुम्हें, यही मेरा भाषण है

किरोड़ीलाल मीणा ने बीजेपी के स्थानीय नेताओं और पदाधिकारियों को जमकर खरी खोटी सुनाई। उन्होंने बीजेपी के मंडल अध्यक्षों से एक-एक कर पूछ लिया कि आप कितनी गाड़ियां लेकर यहां आए हो? डॉ. मीणा ने भाजपा मंडल अध्यक्षों को सभा स्थल पर ही फटकार लगाई।

किरोड़ी ने फटकारते हुए कहा- आप मेरी बेइज्जती कर रहे हो। आपको बिल्कुल भी शर्म नहीं आती, मुझे शर्म आ रही है ऐसी सभा देखकर। इस बीच एक पदाधिकारी ने कहा कि भाषण तो दे दीजिए। इसके बाद डॉक्टर किरोड़ी और ज्यादा उखड़ गए। इसके बाद किरोड़ी ने कहा- शर्म आनी चाहिए तुम्हें, यही मेरा भाषण है, चले जाओ अपने अपने घर।

य​ह कहकर किरोड़ी सभा छोड़कर चले गए। बीजेपी के स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं ने उन्हें खूब मनाने का प्रयास किया, लेकिन उनका गुस्सा शांत नहीं हुआ। वे बिना भाषण दिए चले गए।विधानसभा चुनाव में भी बस्सी सीट से पार्टी को हार मिली थी। इसलिए भी किरोड़ीलाल यहां सभा के दौरान जुटी कम भीड़ के कारण नाराज दिखा।

उस समय भी आपने मेरी इज्जत नहीं रखी, अब क्या रखोगे?

ezgifcom resize 1713250117 किरोड़ी लाल मीणा की राजनीतिक जमीं क्यों खिसकी, किरोड़ी बोले शर्म आनी चाहिए तुम्हें, यही मेरा भाषण हैइससे पहले किरोड़ी ने कहा- विधानसभा चुनावों में भी सबसे ईमानदार रिटायर्ड अफसर को उम्मीदवार बनाकर भेजा। उन्हें आपने हरवा दिया। उस समय ही आपने मेरी इज्जत नहीं रखी तो अब क्या रखोगे? आरक्षण कभी खत्म नहीं होगा फिर आप क्यों पागल हो रहे हो? मैं मोदीजी को फोन कर बोल देता हूं कि बस्सी के पदाधिकारी तो पागल हो गए हैं।

किरोड़ी की नाराजगी की सियासी चर्चा

डॉ किरोड़ी ने जिस अंदाज में नाराजगी जाहिर की उसे लोकसभा चुनावों में बीजेपी के स्थानीय नेताओं के कामकाज के तौर तरीकों से जोड़कर देखा जा रहा है। दौसा सीट को बीजेपी ने चुनौती वाली सीट में रखकर उस पर मेहनत करने की जरूरत बताई थी। चुनावी सभा में भीड़ नहीं जुटने को भितरघात के संकेत के तौर पर भी देखा जा रहा है।

मीणा वोट तय करेंगे कांग्रेस-बीजेपी की जीत-हार

एक बार फिर 2024 का लोकसभा चुनाव नजदीक है, चुनावी प्रचार परवान पर है और दौसा सीट पर पीएम मोदी के चेहरे और जाति के आंकड़ों से हार-जीत के कयास लगाए जा रहे है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दौसा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में जातिगत आंकड़ों पर ही उम्मीदवार अपनी जीत का दम भर रहे हैं।

इस जातिगत आंकड़े पर इतने भरोसे के पीछे भी कई मायने लगाए जा रहे हैं। यह भी कहा जा रहा है कि इस सीट पर सबसे अधिक मतदाता यानी मीणा समाज का वोट यदि थोड़ा भी बीजेपी की ओर खिसकता है तो इसका बड़ा नुकसान कांग्रेस का उठाना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें : आरक्षण की 50% सीमा बढ़ाना राहुल गाँधी का मास्टर स्ट्रोक से मोदी की बेचैनी बढ़ी

एक रिपोर्ट की मानें तो 2014 में 4 फीसदी और 2019 में 6 फीसदी मीणा वोट बीजेपी की तरफ पड़े थे। यदि पिछले 10-15 सालों के बीजेपी के रूझानों को आगे बढ़ाए तो इसबार इसमें थोड़ा भी इजाफा बीजेपी के लिए फायदेमंद साबित होगा।

दाैसा लोकसभा निवार्चन क्षेत्र में जातिगत आंकड़ा

जाति मतदाता
मीना 4.5 लाख
एससी 3.75 लाख
ब्राह्मण 2.25 लाख
गुर्जर 2 लाख
माली 1.5 लाख
वैश्य 1 लाख
राजपूत 75 हजार
जाट 40 हजार
यादव 15 हजार
मुस्लिम 45 हजार
अन्य 2 लाख

(जातिगत आंकड़ा एक मीडिया रिपोर्ट के आधार पर)

बीजेपी के 2014 के घोषणापत्र ‘नमामि गंगे योजना’ जैसे वादे अब भी अधूरे

कांग्रेस बीजेपी के घोषणा-पत्र 2024 में जनता के लिए दोनों के वादों में क्या फर्क

बीजेपी के 2014 के घोषणापत्र ‘नमामि गंगे योजना’ जैसे वादे अब भी अधूरे, कांग्रेस बीजेपी के घोषणा-पत्र 2024 में जनता के लिए दोनों के वादों में क्या फर्क

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This