CGEPT पेपर फर्जीवाड़े के तार जयपुर-शिमला तक जुड़े, मास्टरमाइंड चिड़ावा में बड़े कोचिंग सेंटर का मालिक, कोचिंग में पढ़ने वाले गिरोह ने देशभर में करवाई नकल

5 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 05 मई 2024 | जयपुर – दिल्ली – शिमला : CGEPT (इंडियन कोस्ट गार्ड) परीक्षा के फर्जीवाड़े में 30 अप्रैल को गिरफ्तार 6 आरोपियों ने कोटा में बैठकर जयपुर और शिमला में ऑनलाइन एग्जाम दे रहे 30 से ज्यादा अभ्यर्थियों का पेपर सॉल्व किया था। ये आरोपी सिर्फ जरिया थे। इस पूरे खेल का मास्टरमांइड चिड़ावा (झुंझुनूं) के एक बड़े कोचिंग सेंटर का मालिक था, जो इंडियन आर्मी और सिविल एग्जाम की तैयारी करवाता है।

CGEPT पेपर फर्जीवाड़े के तार जयपुर-शिमला तक जुड़े

MOOKNAYAKMEDIA 27 Copy 300x234 CGEPT पेपर फर्जीवाड़े के तार जयपुर शिमला तक जुड़े, मास्टरमाइंड चिड़ावा में बड़े कोचिंग सेंटर का मालिक, कोचिंग में पढ़ने वाले गिरोह ने देशभर में करवाई नकल दरअसल, कोस्ट गार्ड एनरोल्ड पर्सनल टेस्ट (CGEPT-02/2024) का पेपर 20 और 21 अप्रैल को देशभर में ऑनलाइन हुआ था। पेपर के बाद कोटा पुलिस ने 30 अप्रैल को शहर के आईटी पार्क के पास छह युवकों को शांतिभंग के आरोप में पकड़ा था। युवकों के मोबाइल की जांच में कई स्टूडेंट के परमिशन कार्ड मिले थे। सख्ती से पूछताछ करने पर उन्होंने CGEPT एग्जाम के फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। इसके बाद सभी छह युवकों को गिरफ्तार किया गया था।

एग्जाम नाविक का था। ये परीक्षा 4 स्टैप में होती है। जो पेपर सॉल्व किए वो पहली स्टेज के थे। आरोपियों के खिलाफ 3/ 4 राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा भर्ती में अनुचित साधनों की रोकथाम के अद्योपाय अधिनियम 2022 66, 66 डी आईटी एक्ट व धारा 419, 420, 420 बी में मामला दर्ज किया है। उसकी गैंग के सदस्यों के पकड़े जाने के बाद से वह फरार है। उसने पेपर सॉल्व, कंप्यूटर को रिमोर्ट एक्सेस पर लेने और अभ्यर्थियों के कंप्यूटर हैक करने के लिए अलग-अलग टीम लगा रखी थी।

कोचिंग में पढ़ने और पढ़ाने वालों को पकड़ा था

कोटा के विज्ञान नगर थाना पुलिस ने मामले में अशोक जाट (38) निवासी बांगड़वा थाना हमीरवास तहसील राजगढ़ (चूरू) और संदीप बुडालिया (29) बरालू ,थाना लोहारू, भिवानी (हरियाणा) थे। इनके अलावा प्रतीक गजराज (24) निवासी पालोता, थाना सिंघाना, झुंझुनूं, रणवीर सिंह (32) निवासी काटधनोरी, झुंझुनूं, अशोक (29) निवासी गोपाल की ढाणी, थाना पचेरी, झुंझुनूं और राहुल जाखड़ (21) धमोरा थाना गुढ़ागौड़जी, झुंझुनूं को पकड़ा था।

मास्टरमाइंड चिड़ावा में बड़े कोचिंग सेंटर का मालिक

इस पूरे मामले की जांच एडिशनल एसपी नियति शर्मा कर रही है। उन्होंने बताया- आरोपियों से प्रारंभिक पूछताछ में पता चला था कि सभी चिड़ावा स्थित एक कोचिंग में पढ़ते और पढ़ाते थे। अब उस कोचिंग और मालिक का नाम सामने आया है।

इस खेल का मास्टरमाइंड अमित भास्कर है, जो चिड़ावा में बोधायन नाम से कोचिंग सेंटर का मालिक है। वह कोचिंग में कॉम्पिटिशन एग्जाम (इंडियन आर्मी,इंडियन कोस्ट गार्ड, सिविल एग्जाम) की तैयारी करवाता है। उसकी तलाश की जा रही है। मामले कई लोगों के शामिल होने की संभावना है।

कोचिंग के टीचर और स्टूडेंट के मिलकर बनाई गैंग %name CGEPT पेपर फर्जीवाड़े के तार जयपुर शिमला तक जुड़े, मास्टरमाइंड चिड़ावा में बड़े कोचिंग सेंटर का मालिक, कोचिंग में पढ़ने वाले गिरोह ने देशभर में करवाई नकल

पकड़े गए आरोपी गिरोह के सरगना अमित भास्कर से पिछले दो साल से संपर्क में थे। गिरफ्तार आरोपी रणवीर अमित भास्कर के कोचिंग में फिजिक्स, अशोक मैथ्स, अशोक जाट जीके पढ़ाता था। एक आरोपी राहुल स्टूडेंट है जो कॉम्पिटिशन की तैयारी कर रहा है। आरोपी अन्य कोचिंग में भी पढ़ाते थे।

पेपर सॉल्व सहित कंप्यूटर हैक करने के लिए थी अलग टीम

मास्टर माइंड ने पेपर सॉल्व करने के लिए कोटा के आईटी पार्क के पास स्थित कंप्यूटर लैब को किराए पर लिया था। हालांकि CGEPT का कोटा में सेंटर नहीं था। आरोपी युवकों ने यहां लैब में बैठकर पेपर सॉल्व किया था। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि अभ्यर्थी के कंप्यूटर को हैक करने और लैब में कंप्यूटर को रिमोर्ट एक्सेस REALVNC VIEWER व ANYDESK ऐप डाउनलोड करने के लिए अलग टीम काम कर रही थी, जिनका काम के हिसाब से कमीशन सेट था। उनका पेपर सॉल्व करने का काम था।

जयपुर और शिमला सेंटर के अभ्यर्थियों का पेपर किया सॉल्व

कोटा में बैठकर 30 से ज्यादा अभ्यर्थियों का पेपर सॉल्व किया था। अभ्यर्थियों का सेंटर जयपुर और शिमला में आया था। बाकी कितने सेंटर पर पेपर सॉल्व किया, इसकी भी जांच जारी है। कंप्यूटर में रिमोर्ट एक्सेस REALVNC VIEWER व ANYDESK ऐप डाउनलोड करने के बाद अभ्यर्थियों का पेपर सॉल्व किया गया।

कोचिंग में पढ़ने वाले गिरोह ने देशभर में करवाई नकल %name CGEPT पेपर फर्जीवाड़े के तार जयपुर शिमला तक जुड़े, मास्टरमाइंड चिड़ावा में बड़े कोचिंग सेंटर का मालिक, कोचिंग में पढ़ने वाले गिरोह ने देशभर में करवाई नकल

  • आरोपियों ने सिस्टम के जरिए रिमोट एक्सेस ऐप REALVNC VIEWER और ANYDESK से परीक्षा केंद्रों पर मौजूद अभ्यर्थियों के कंप्यूटर सिस्टम को हैक किया था। इसके बाद पेपर सॉल्व किया गया था।

कई सवालों के जवाब बाकी

  • कोटा में इंडियन कोस्ट गार्ड एग्जाम का सेंटर नहीं था। गिरोह के सरगना ने कोटा में ही लैब को किराए पर क्यों लिया?
  • लैब को कितने रुपए और कितने दिन के लिए किराए पर लिया?
  • जब लैब को किराए पर लिया तो कारण क्या बताया गया?
  • कोटा के लैब में हैकिंग ऐप कब इंस्टाल किया?
  • आरोपी कब से काम में लगे है?
  • अब तक कितने अभ्यर्थियों का पेपर सॉल्व करवा चुके? जांच अधिकारी ने बताया कि मामले की जांच जारी है। जल्द ही मास्टर माइंड अमित भास्कर को पकड़कर पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा।

कोस्ट गार्ड एनरोल्ड पर्सनल टेस्ट (CGEPT) का पेपर लीक और सॉल्व करवाने वाले गिरोह से पूछताछ में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। मंगलवार को पकड़े गए सभी 6 युवक खुद शेखावाटी (झुंझुनूं ) के कोचिंग में पढ़ते हैं और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। इस गैंग ने कंप्यूटर लैब में बैठकर पेपर सॉल्व किए। इसके लिए इन्होंने परीक्षा सेंटर के सभी कंप्यूटरों में एक खास ऐप इंस्टॉल किया, ताकि कंप्यूटर को रिमोट (कहीं से भी संबंधित कंप्यूटर को ऑपरेट किया जा सकता है) पर लिया जा सके।

जांच अधिकारी एडिशनल एसपी महिला अपराध अनुसंधान प्रकोष्ठ नियति शर्मा ने बताया- स्टूडेंट को झांसे में लेकर पेपर सॉल्व करवाने की एवज में 15 लाख रुपए में डील की थी। इसके लिए प्री-प्लान तरीके से कोटा आकर आईटी पार्क स्थित राजीव गांधी कंप्यूटर साक्षरता मिशन की लैब को किराए पर लिया था। मामले में लैब संचालक की भूमिका भी संदिग्ध है। जांच के लिए SIT गठित की है।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This