जोधपुर में समलैंगिक संबंध के चलते हुए मर्डर मिस्ट्री का खुलासा, लेस्बियन पत्नी ने बहनों की मदद दे इलेक्ट्रिक कटर से शव के किये थे 6 टुकड़े

7 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 07 मई 2024 | जयपुर – दिल्ली – जोधपुर (मेड़ता सिटी) : जोधपुर में समलैंगिक संबंध के चलते ससुराल नहीं जाने चाहत में एक पत्नी ने पति की हत्या की साजिश रच दी। कृषि विभाग के एएओ चरण सिंह की पत्नी सीमा ने आपकी बहनों और एक परिचित के साथ मिलकर चरण सिंह की हत्या कर, शव के टुकड़े-टुकड़े कर नाले में फेंक दिया था।

जोधपुर में समलैंगिक संबंध के चलते हुए मर्डर मिस्ट्री का खुलासा

MOOKNAYAKMEDIA 33 300x195 जोधपुर में समलैंगिक संबंध के चलते हुए मर्डर मिस्ट्री का खुलासा, लेस्बियन पत्नी ने बहनों की मदद दे इलेक्ट्रिक कटर से शव के किये थे 6 टुकड़ेइस नृसंश हत्या के चारों आरोपियों को अब बनाड़ थाना पुलिस ने महानगर मजिस्ट्रेट संख्या 5 के समक्ष पेश किया है। पुलिस ने कोर्ट के समक्ष अर्जी देते हुए बताया कि अभी तक हत्या में प्रयुक्त गए सामान को बरामद करना बाकी है। इसके चलते 5 दिन के पुलिस अभिरक्षा की आवश्यकता है, जिसे स्वीकार करते हुए कोर्ट ने सभी चारों आरोपियों को 5 दिन की पुलिस रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया था।

ऐसी रची थी साजिश

मिली जानकारी के अनुसार कृषि विभाग के एएओ चरण सिंह की पत्नी सीमा व सालियां बबीता व प्रियंका और एक परिचित भींयाराम जाट ने मिलकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद उसके शव को बाथरूम में ले जाकर इलेक्ट्रॉनिक ग्राइंडर के जरिए टुकड़े-टुकड़े कर दिए थे और उन्हें नाले में फेंक दिया था।इसके बाद शव के टुकड़े नगर निगम के ट्रीटमेंट प्लांट में फेंके गए थे, जिसके बाद शहर सनसनी फैल गई।

इलेक्ट्रिक कटर से शव के 6 टुकड़े किए

इसके बाद तीनों बहनें सीमा, प्रियंका और बबिता चरणसिंह की बाइक लेकर वहां से निकल गईं। सीमा को बोरूंदा में उतारकर प्रियंका व बबिता मेड़ता सिटी पहुंची। वहां पब्लिक पार्क के पास बाइक खड़ी कर वापस जोधपुर चली गई। शव काटने के लिए उन लोगों ने एक इलेक्ट्रिक कटर भी खरीदा था। सुशील के शव को प्रियंका, बबीता और भींयाराम घसीटकर बाथरूम में ले गए।

उसके सर, कोहनी से ऊपर के दोनों हाथ और घुटनों से नीचे के दोनों पैर इलेक्ट्रिक कटर से काटे। सभी 6 टुकड़ों को तीन अलग-अलग प्लास्टिक थैलियों में भरा और रात में ही तीन थैलियों काे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के मेनहाेल में फेंक दिया। इसके बाद वापस आकर घर को अच्छे से साफ किया। अगली सुबह दोनों बहनें निश्चिंत हो गई और चाय बनाकर आराम से घर में बैठ गई थीं। इकलौते बेटे सुशील के मर्डर के बाद नेमाराम पूरी तरह से टूट गए हैं।

पुलिस पहुंची तब भी दोनों कॉन्फिडेंट थी कि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिल पाएगा। इधर, पूछताछ में हुए इस खुलासे के बाद पुलिस ने भीयांराम जाट को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस काे आरोपियों की निशानदेही पर सुशील का धड़ मंडोर नौ मील इलाके में पुलिया के पास मिला।  इधर गिरफ्तारी के बाद सीमा ने पुलिस को बताया कि मैंने अपनी बहनों काे फंसा दिया।

यह भी पढ़ें : कर्नाटक सरकार के पूर्व मंत्री एचडी रेवन्ना गिरफ्तार

अगर मैं सुशील काे किसी अन्य जगह ले जाकर नींद की गाेलियां और जहर का इंजेक्शन देकर मार देती ताे आज मेरी बहनों का जीवन बर्बाद नहीं हाेता। पुलिस पूछताछ में ये भी सामने आया था कि जोधपुर के पालासनी में पोस्टेड पशु चिकित्सक डॉक्टर राजेश चितारा ने सीमा को नींद की गोलियां और नशे का इंजेक्शन दिया। पुलिस ने डॉक्टर राजेश चितारा को भी बुलाकर पूछताछ की तो उसने नींद की गोलियां और नशे का इंजेक्शन खरीदकर सीमा को देना कबूल कर लिया। इस पर राजेश चितारा को भी गिरफ्तार कर लिया गया था।

पत्नी को गौना करवाकर अपने घर ले जाना चाहता था ससुराल

दरअसल चरण सिंह की पत्नी सीमा की महिला के साथ समलैंगिक संबंध थे। जिनके चलते वह ससुराल नहीं जाना चाहती थी। चरण सिंह के विवाह को लंबा समय हो गया था, लेकिन गौना होना बाकी था। जिसको लेकर चरण सिंह अपनी पत्नी पर लगातार दबाव बना रहा था और सामाजिक मर्यादा के चलते वह अपने समलैंगिक संबंधों के बारे में किसी को बता नहीं पाई और उसने वह कदम उठा लिया जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता।

पुलिस ने किया ग्राइंडर और अन्य सामान बरामद

बनाड़ थाना अधिकारी अशोक आंजना ने बताया की हत्या में प्रयुक्त किए गए ग्राइंडर और अन्य सामान बरामद कर लिए गए हैं। लेकिन वाहन बरामद करना बाकी है। इसके अलावा कुछ और सामान बरामद करने हैं। जिसको लेकर आज पुलिस ने रिमांड मांगा था और कोर्ट के चारों आरोपियों को पुलिस अभिरक्षा में पुलिस को सौंप दिया। पुलिस अब रिमांड के जरिए केस के सभी पहलूओं तक पहुंचना चाहेंगी, ताकि इस केस से जुड़े सभी राज सामने आ सके।

लेस्बियन पत्नी ने बहनों की मदद दे इलेक्ट्रिक कटर से शव के किये थे 6 टुकड़े

राजस्थान के जोधपुर शहर के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में बुधवार को टुकड़ों में मिले एक युवक और उसकी हत्या का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। जोधपुर के बनाड़ थाना इलाके में स्थित नगर निगम के ट्रीटमेंट प्लांट के पास सीवरेज लाइन में मानव शरीर के अवशेष मिलने से हड़कंप मच गया था। लोगों की सूचना के बाद बनाड़ थाना पुलिस मौके पर पहुंची और पुलिस ने सीवरेज से एक कट्टे में से मानव शरीर के अलग-अलग टुकड़े किए हुए अंग बरामद कर कब्जे में लेकर जांच कर रही थी।

inner 01 2 1714820319 जोधपुर में समलैंगिक संबंध के चलते हुए मर्डर मिस्ट्री का खुलासा, लेस्बियन पत्नी ने बहनों की मदद दे इलेक्ट्रिक कटर से शव के किये थे 6 टुकड़े
दैनिक भास्कर से साभार वीडियो

एफएसएल टीम, एमओबी टीम और डॉग स्क्वॉयड से मिली मदद

डीसीपी धर्मेंद्र सिंह यादव ने बताया कि बुधवार को सुबह नांदड़ी गौशाला के पीछे एसटीएफ प्लांट (सीवरेज प्लॉन्ट) के पास एक अज्ञात व्यक्ति के कटे हुए हाथ, पैर और शाम को कटा हुआ सिर मिलने की सूचना मिली थी। इस पर मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस उपायुक्त जोधपुर पूर्व, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त जोधपुर पूर्व, सहायक पुलिस आयुक्त वृत मंडोर की ओर से मौके पर एफएसएल टीम, एमओबी टीम तथा डॉग स्क्वॉयड को बुलाया गया। घटनास्थल का बारिकी से निरीक्षण किया गया। एएसआई गोरधनराम की रिपोर्ट पर अज्ञात लोगो के विरुद्ध अज्ञात व्यक्ति की हत्या कर सबूत मिटाने का मामला दर्ज किया गया।

मामले की गंभीरता और शिघ्र खुलासा करने के लिए उच्च अधिकारियों ने अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त पूर्व भागचंद के नेतृत्व में एसीपी राजेंद्र दिवाकर, थानाधिकारी बनाड़ अशोक आंजना और लालाराम थानाधिकारी डांगियावास टीम गठित की गई। इस टीम ने सिवरेज प्लॉट में आने वाले नाले की बारीकी से जांच पड़ताल की और नाले के आसपास आधुनिक तकनीकी साधनों की सहायता से जानकारी एकत्र कर गुमशुदा लोगों के बारे में पूरे राजस्थान से जानकारी प्राप्त की गई।

मृतक के मामा के बेटे ने की शिनाख्त

मानव अंगों को जिस थैलियों में फेंका गया जिसमें एक थैली आनंदपुर कालु और एक थैली मेडतासिटी के दुकान की थी। जिस पर पाली जिले और नागौर जिले में गुमशुदा लोगों के बारे में जानकारी प्राप्त की तो पता चला कि 10 अगस्त 2020 को गुम हुए चरणसिंह उर्फ सुशील चौधरी की गुमशुदगी 11 अगस्त 2020 को मेड़ता सिटी थाने में दर्ज हुई थी। गुमशुदा के फोटो मंगवाए और चेहरे से मिलान किया तो समानता पाई गई। इस पर बुधवार को मृतक के मामा के बेटे राजेन्द्र मंगोलिया ने अपने भाई चरण सिंह उर्फ सुशील पुत्र नेमाराम जाति जाट निवासी खाखड़की पुलिस थाना मेडतासिटी की शिनाख्त की।

प्लास्टिक की थैलियों से मिला सुराग

11 अगस्त 2020 का दिन था। सुबह के 9 बजे थे। जोधपुर के बनाड़ एरिया में स्थित नांदड़ी गोशाला के पीछे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट पर रोज की तरह सुपरवाइजर पूनमचंद वाल्मीकि और ऑपरेटर पप्पू मंडल सफाई कर रहे थे। सीवरेज पाइप लाइन में गंदे पानी के साथ एक प्लास्टिक की थैली बाहर आई। थैली खोलकर देखी तो उसमें इंसान के कटे हुए हाथ-पैर थे। 

पुलिस को शव के टुकड़े जिन प्लास्टिक की थैलियों में मिले थे, उनमें से एक पर आनंदपुर-कालू गांव की दुकान तो दूसरी पर मेड़ता सिटी की दुकान का नाम लिखा हुआ था। ऐसे में ये साफ था कि मरने वाले का या मारने वाले दोनों में से किसी का इन जगहों से कनेक्शन है।

पुलिस ने आस-पास के थानों के साथ ही इन दोनों पुलिस स्टेशन में पिछले दिनों में हुई गुमशुदगी की रिपोर्ट तलाशी। पता चला कि मेड़ता पुलिस स्टेशन एरिया में एक युवक 10 अगस्त से गायब है। जांच में सामने आया कि मूल मेड़ता सिटी के खाखड़की गांव के चूने-भट्टे के व्यापारी नेमाराम जाजड़ा जोधपुर जिले के बोरुंदा में रहते थे। उनका इकलौता बेटा चरण उर्फ़ सुशील मेड़ता सिटी के खुड़ी कलां गांव में कृषि अधिकारी था।

सीसीटीवी फुटेज में दिखी सुशील की सालियां

सुशील सरकारी नौकरी में था और बड़े चूना भट्‌टा व्यापारी का बेटा था। ऐसे में पुलिस पर जल्द से जल्द मर्डर के खुलासे का दबाव था। वहीं पुलिस शव का धड़ भी नहीं ढूंढ पाई थी। इस बीच पुलिस को जानकारी मिली कि सुशील की बाइक मेड़ता सिटी में पब्लिक पार्क के बाहर खड़ी है।

पुलिस ने इस इलाके के सीसीटीवी फुटेज खंगाले ताे दो लड़कियां बाइक लेकर आते और मेड़ता सिटी के पब्लिक पार्क के बाहर छोड़कर जाते हुए दिखीं। पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि ये दोनों लड़कियां सुशील की पत्नी सीमा की बहनें प्रियंका और बबिता हो सकती हैं। दोनों जोधपुर के नांदड़ी इलाके में ही किराए के मकान में रह रही थीं।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This