बिनेगा निवासी अंकित मीणा की नृशंस हत्या का खुलासा, मृतक का चेहरा और सिर पत्थरों से कुचला गया था, परिजन आश्वासन के बाद भी धरने से नहीं हटे डॉ किरोड़ी बेरंग लौटे

8 min read

मूकनायक मीडिया ब्यूरो | 14 मई 2024 | दिल्ली – जयपुर – गंगापुर सिटी (अंकित मीणा हत्याकांड) : राजस्थान के गंगापुर सिटी में रविवार (12 मई, 2024) को अंकित उर्फ़ नीलू मीणा का शव एक खाली प्लॉट से मिला था। 27 वर्षीय मृतक के चेहरे और सिर को पत्थरों से कूच दिया गया था और गले को रेत दिया गया।

अब पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपित सलमान को उसके 2 नाबालिग साथियों सहित हिरासत में लिया है। मूकनायक मीडिया रिपोर्टर ने मामले में गहन जाँच-पड़ताल की तो पता चला कि सनसनी फ़ैलाने वाले मीडिया के कुछेक लोगों और युटुबर्स ने दूसरा ही रंग देने का प्रयास किया था। मूकनायक मीडिया गलती से हुई अपुष्ट आरंभिक पोस्ट के लिए खेत प्रकट करता है और उस पोस्ट को डिलीट कर दिया गया है।

बिनेगा निवासी अंकित मीणा की नृशंस हत्या का खुलासा

MOOKNAYAKMEDIA 15 Copy 300x195 बिनेगा निवासी अंकित मीणा की नृशंस हत्या का खुलासा, मृतक का चेहरा और सिर पत्थरों से कुचला गया था, परिजन आश्वासन के बाद भी धरने से नहीं हटे डॉ किरोड़ी बेरंग लौटेअंकित ने हत्या से पहले शुक्रवार की रात लगभग 8 बजे अपने पिता रामबाबू मीणा से अंतिम बार बात की थी। वह 4 भाइयों में सबसे छोटा था। अंकित की शादी को 10 साल से अधिक हो गए हैं। उनके एक 7 वर्षीय बेटा और 3 साल की बेटी है। यहाँ के जिला अस्पताल के पास एक प्लॉट खाली पड़ा है जिसमें रविवार की सुबह एक युवक की लाश पड़ी होने की सूचना मिली।

मौके पर पहुँची पुलिस ने पहचान करवाई तो लाश बिनेगा गाँव निवासी अंकित मीणा की निकली। अंकित के सिर को बेरहमी से कुचल दिया गया था। उनके चेहरे पर भी वार किए गए थे। पास ही एक बाइक भी खड़ी मिली। पुलिस ने शव को इलाज के लिए अस्पताल भेजा और केस दर्ज कर के जाँच शुरू कर दिया। जाँच के दौरान सामने आया कि अंकित और सलमान बहुत पहले से एक-दूसरे से परिचित थे।

घटना के दिन सलमान और अंकित ने एक साथ शराब पी। इस दौरान सलमान के 2 साथी भी मौजूद रहे। शराब पीने के बाद किसी बात पर अंकित और सलमान में कहासुनी शुरू हो गई। बाद में सलमान ने अंकित की पत्थरों से कूच कर हत्या कर दी। बाद में अंकित का गला चाकू से रेता गया। इस घटना को अंजाम देने में सलमान के दोनों साथी भी बताए जा रहे हैं। ये दोनों नाबालिग हैं।

अंकित को मार कर तीनों आरोपितों ने उसके शव को अस्पताल के पास खाली पड़े एक प्लॉट में फेंक दिया और फरार हो गए। पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपित सलमान और उसके दोनों साथियों को हिरासत में ले लिया है। तीनों से पूछताछ की जा रही है।

पुलिस का कहना है कि मृतक के परिजनों की माँग के आधार पर वो इस मामले को फास्टट्रैक कोर्ट में चलवाने का प्रयास करेंगे। मृतक के परिजनों को मुआवजा दिलाने की भी प्रक्रिया अमल में लाई जा रही है। पुलिस ने शहर में चौकसी बढ़ा दी है।अब तक की पूछताछ में सामने आया है कि सलमान 3-4 दिनों से अंकित के हत्या की साजिश रच रहा था। पुलिस अधीक्षक सुजीत शंकर के मुताबिक पत्थरों से कूचने के बाद आरोपितों ने अंकित पर चाकू से भी वार किया था। हत्या में प्रयोग हुआ चाकू भी बरामद कर लिया गया है।

GNdlSDlXcAIbp3Z 291x300 बिनेगा निवासी अंकित मीणा की नृशंस हत्या का खुलासा, मृतक का चेहरा और सिर पत्थरों से कुचला गया था, परिजन आश्वासन के बाद भी धरने से नहीं हटे डॉ किरोड़ी बेरंग लौटेगंगापुर सिटी जिला मुख्यालय जयपुर हाईवे पर एक निजी अस्पताल के पास खाली प्लॉट में 26 – 27 वर्षीय युवक का अल सुबह शव मिलने से सनसनी फैल गई। आसपास के लोगों की सूचना पर सदर थाना, कोतवाली और उदेई मोड़ थाना अधिकारी सहित एएसपी राकेश राजोरा और बाद में एसपी सुजीत शंकर मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का जायजा लिया। इसके बाद पुलिस ने शव को गंगापुर सिटी जिला चिकित्सालय लेकर गयी और शव को मोर्चरी में रखवाया गया।

FSL की टीम द्वारा मौके पर पहुँच कर साक्ष्य जुटाये गये। घटनास्थल पर मृतक का चेहरा और सिर पत्थरों से कुचला गया था और पत्थरों से सिर कुचलने के दौरान खून के छीटे दीवार और पत्थरों पर स्पष्ट दिखाई दे रहे थे। सूचना पर मौके पर पहुंचे परिजनों ने युवक की हत्या का आरोप लगाया।

जानकारी के अनुसार गंगापुर सिटी जयपुर हाईवे पर एक निजी अस्पताल के सामने खाली प्लॉट में सुबह करीब 8:00 बजे आसपास लोगों को शव पड़ा हुआ दिखाई दिया। इसकी उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना के बाद सदर थाना अधिकारी पन्नालाल और इसके बाद कोतवाली थाना अधिकारी जितेंद्र और उदेई मोड़ थाना अधिकारी नरेश पोसवाल मौके पर पहुंचे।

सूचना के थोड़ी देर बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश राजौरा और उनके बाद पुलिस अधीक्षक सुजीत शंकर भी मौके पर पहुंच गये। घटनास्थल पर पुलिस को एक युवक का शव छत – विछत अवस्था में पड़ा हुआ मिला, मौके पर ही एक बाइक भी खड़ी हुई थी। बाद में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर गंगापुर सिटी गवर्नमेंट हॉस्पिटल लेकर आई और शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया।

मृतक की पहचान अंकित उर्फ नीलू मीणा (27) पुत्र रामबाबू मीणा हाल निवासी सालोदा जिला मुख्यालय गंगापुर सिटी और मृतक का गांव बिनेगा के रूप में हुई है। पुलिस की सूचना पर मृतक के परिजन पिता रामबाबू मीणा और अन्य परिजन घटनास्थल पर पहुंचे और यहां से बाद में गवर्नमेंट हॉस्पिटल आये।

मृतक के पिता ने अपने बेटे की हालत को देखकर हत्या का आरोप लगाया। पिता का कहना था कि शुक्रवार रात करीब 8:00 बजे अंकित से उनकी फोन पर बात हुई थी और फोन पर बात होने के बाद अंकित के मोबाइल पर 160 रुपए भी डाले थे। परिजनो ने पहले आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की, पुलिस अधिकारियों ने परिजनों को समझाया और शीघ्र आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया।

अधिकारियों की समझाइश के बाद परिजनों की मौजूदगी में पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाने की कवायद शुरू की। वहीं दूसरी और एफएसएल की टीम भी मौके पर पहुंची और टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाये। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

बच्चों के सिर से उठा पिता का साया 

मृतक के पिता रामबाबू ने बताया कि अंकित चार भाइयों में सबसे छोटा था। अंकित से तीन बड़े भाई थे। इनमें सबसे बड़ा आशीष, दूसरे नंबर का भवानी और तीसरे नंबर का अजय था, अंकित सबसे छोटा चौथे नंबर का था। उन्होंने बताया कि अंकित की शादी हो चुकी है और अंकित के एक 7 साल का बेटा और 3 साल की बेटी है। पिता ने कहा कि अंकित की मौत से दोनों बच्चों के सिर से पिता का साथ छूट गया। संदिग्ध आरोपीयान की तलाश जारी है।

सरकारी नौकरी और एक करोड़ तत्काल आर्थिक मदद की माँग 

भीम आर्मी आज़ाद समाज पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष प्रोफेसर राम लखन मीणा ने कहा कि अंकित मीना की नृशंषतापूर्वक की गई हत्या से अत्यंत विचलित हैं। भजन लाल शर्मा सरकार पूरी तरह फैल हो चुकी है। कानून-व्यवस्था शून्य है, प्रशासन निकम्मा हो चुका है। दलित आदिवासी महिलाओं पर रोज अत्याचार हो रहे है। पर सरकार सोई हुई है। शर्मा सरकार अंकित मीणा के परिजनों को एक सरकारी नौकरी और एक करोड़ की आर्थिक मदद तत्काल दें।

राजस्थान के गंगापुर सिटी में आदिवासी युवक अंकित मीणा की चाकू से गला रेत कर पत्थरों से नृशंषतापूर्वक सिर कुचलकर की गई हत्या की घटना बेहद दुखद एवं शर्मनाक है। राजस्थान में अपराध चरम सीमा पर है। बदमाश बेखौफ है। कानून व्यवस्था वेंटिलेटर पर है। भजनलाल शर्मा को इस्तीफा दे देना चाहिए।

परिजन आश्वासन के बाद भी धरने से नहीं हटे डॉ किरोड़ी बेरंग लौटे 

युवक अंकित मीणा की निर्मम हत्या के बाद सोमवार को कलेक्ट्रेट में तीए की बैठक हुई। महिला और पुरुषों ने श्रंद्धाजलि अर्पित की। तीन दिन से परिजन और सर्व समाज के लोग धरने पर बैठे हैं। डॉ. किरोड़ीलाल मीणा के आश्वासन के बाद भी परिजन धरने से नहीं हटे।

धरने पर पहुंचे कृषि मंत्री डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने प्रशासन से बात करने के बाद कहा कि पीड़ित परिवार की मांग जायज हैं। पचास लाख रुपए, संविदा पर नौकरी के लिए सीएम से बात करने का प्रयास किया, लेकिन उनके महाराष्ट्र में व्यस्त होने के कारण सम्पर्क नहीं हो पाया। वे जयपुर जाकर इस सम्बंध में वार्ता कर उनकी मांगाें को रखेंगे।

यह भी पढ़ें : दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे पर सवाई माधोपुर-बौंली में भीषण दुर्घटना में 6 की मौत

इसके अलावा जिला कलक्टर तथा पुलिस अधीक्षक को मामले को केस ऑफिसर स्कीम में लेने, आरोपियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए सही दिशा में तथ्यों के साथ जांच करने के निर्देश दिए हैं। धरनार्थियों को कहा कि वे उनके साथ हैं, लेकिन सरकार में होने के कारण धरने पर नहीं बैठ सकते हैं। कोई भी मंत्री किसी धरने पर नहीं जाता है, लेकिन मेरे इससे फर्क नहीं पड़ता है। धरना खत्म करना या नहीं करना आपका निर्णय है। इसके बाद डा. किरोड़ी रवाना हो गए।

पुलिस कार्यवाही का विवरण

पुलिस टीम ने अलग अलग जगह कस्बे में घूमकर व मुखविर मामूर कर तथा मार्ग में पड़ने वाले सीसीटीवी कैमरो की फोटो को देखकर यह मालूम किया गया कि घटना से पूर्व मृतक अंकित के साथ सलमान नाम का युवक व दो अन्य नाबालिग युवक मोटरसाईकिल पर साथ थे इस सूचना के आधार पर सलमान व उसके साथियों को थाने पर लाकर कठोरता से पूछताछ की गई तो सलमान ने वारदात करना कबूल कर लिया। सलमान ने बताया कि मेरी अंकित के साथ में दोस्ती थी सलमान ने बताया कि उसकी कोई महिला मित्र थी जिसके साथ में अंकित बातचीत करता था मेरे मना करने पर भी वह उससे बातचीत करता था इस बात को लेकर के मैने अंकित को जान से मारा है क्योकि अंकित शराब पीने का आदि था मै शराब नही पीता था अतः मैने मेरे शराब पीने वाले दो साथियो को घटना के समय साथ बुलाया था हमने जयपुर रोड पर एक ठेके पर शराब पी थी पैसा कम पडने पर अंकित के पिता से अंकित ने मोबाईल पर पैसे भी डलवाये थे शराब पीने के पश्चात जब अंकित ज्यादा होश नही था मैने व मेरे दो साथियो ने चाकू व पत्थरो से अंकित को जान से मार दिया था।

डिटेन शुदा मुलजिम

1. सलमान पुत्र अब्दुल रहमान उर्म 21 साल जाति तेली मुस्लमान निवासी चमनपुरा थाना उदेई मोड 2. दो नाबालिग लडके 

पुलिस टीम सदस्य 

1. श्री पन्नालाल पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी थाना सदर गंगापुर सिटी मय जाप्ता

2. श्री जितेन्द्रसिंह पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी थाना कोतवाली गंगापुर सिटी मय जाप्ता ।

3. श्री नरेश पोसवाल उप निरीक्षक थानाधिकारी पुलिस थाना उदेई मोड मय जाप्ता ।

4. जिला स्पेशल टीम प्रभारी मय जाप्ता ।

मूकनायक मीडिया को आर्थिक सहयोग दीजिए

%name बिनेगा निवासी अंकित मीणा की नृशंस हत्या का खुलासा, मृतक का चेहरा और सिर पत्थरों से कुचला गया था, परिजन आश्वासन के बाद भी धरने से नहीं हटे डॉ किरोड़ी बेरंग लौटे

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This