मौजूद है ऐसी भी दुनिया, जहां उल्टा चलता है समय चक्र ! वैज्ञानिक को भी हुआ यकीन …

2 min read

हम जिस ब्रह्मांड (Mystery of Parallel Universe) में रहते हैं, उसके बारे में शायद हमें अभी बहुत कम जानकारी है. जैसे-जैसे विज्ञान अपने कदम बढ़ा रहा है, वैसे-वैसे नए रहस्यों से पर्दा उठता जा रहा है. वैज्ञानिकों (Scientists believe in an Anti Universe) को अपनी दुनिया के बारे में तो बहुत कुछ पता है, लेकिन अब उन्हें धीरे-धीरे एक ऐसी दुनिया पर भी यकीन हो गया है, जो हमारी दुनिया से बिल्कुल उलट (Anti Universe Where time runs backwards) है.

ये दुनिया हमारी पृथ्वी के पास ही हो सकती है. वैज्ञानिकों की रिसर्च के मुताबिक ये समांतर दुनिया भौतिकी के नियमों में हमारी दुनिया से बिल्कुल उलट होगी. उदाहरण के तौर पर हम समय की गणना जिस तरह करते हैं, यहां वक्त उससे बिल्कुल उल्टा चलता होगा. इस रहस्यमय समांतर दुनिया को लेकर वैज्ञानिक और भी रिसर्च कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें भी एंटी यूनिवर्स की थ्योरी पर यकीन है.

क्या है Anti-Universe या फिर उल्टी दुनिया?
वैज्ञानिकों का मानना है कि एंटी यूनिवर्स की थ्योरी फंडामेंटल सीमेट्रीज़ पर निर्भर है. इसी प्रक्रिया पर ब्रह्मांड की ज्यादातर गतिविधियां टिकी हुई हैं. सिमेट्री के तीन नियमों से इतर भौतिकी वैज्ञानिकों को कभी कुछ भी नहीं मिला. हालांकि अब ऐसी संभावना जताई जा रही है कि हमारे ब्रह्मांड जैसी ही एक और दुनिया है, जहां भौतिकी के नियम उल्टे चलते हैं और समय आगे के बजाय पीछे की ओर जाता है. अब उम्मीद की जा रही है कि इस थ्योरी पर काम करते हुए डार्क मैटर्स की व्याख्या की जा सकती है. उनके मुताबिक ऐसी दुनिया में सीमेट्री की कोई ज़रूरत ही नहीं होगी और न्यूट्रॉन दायीं तरफ से घूमते होंगे.

ये भी पढ़ें- NASA ने ढूंढ ली है एलियंस की 5000 अलग-अलग दुनिया, सौर मंडल से परे है मौजूदगी

वैज्ञानिक समांतर दुनिया को साबित करने में जुटे
समांतर दुनिया की बात को साबित करकने के लिए वैज्ञानिक मास न्यूट्रॉन्स के टेस्ट में लगे हुए हैं. वे अगर इसमें सफल होते हैं तो दूसरी दुनिया की बात साबित हो जाएगी. इस थ्योरी के मुताबिक हमारी दुनिया की तरह समांतर दुनिया में गुरुत्वाकर्षण शक्ति नहीं पाई गई होगी, इसी वजह ये रिवर्स यानि उल्टे मोड में चल रहा है. यहां सब कुछ बिल्कुल अलग तरीके से चल रहा होगा या फिर यूं कहें हमारी दुनिया से बिल्कुल उलट हो रहा होगा.

Tags: Science news, Space Science, Weird news

Source link

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This