मॉनसून सत्र से पहले मोदी कैबिनेट विस्तार की सुगबुगाहट तेज, यक्ष-प्रश्न ! राजस्थान से किनका आयेगा नाम

मूकनायक मीडिया ब्यूरो || जून 12, 2021 || जयपुर : मॉनसून सत्र से पहले देश में नरेंद्र मोदी कैबिनेट विस्तार की सुगबुगाहट तेज हो गयी है। बताया जा रहा है कि जून के तीसरे या चौथे हफ्ते में केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार किया जा सकता है। वहीं मंत्रिमंडल विस्तार में सहयोगी दलों के नेताओं को भी शामिल किये जाने की बात कही जा रही है। बताया जा रहा है कि नीतीश कुमार की पार्टी जदयू भी कैबिनेट में शामिल हो सकती है। सबसे अधिक फोकस उत्तर प्रदेश पर रह सकता है क्योंकि वहाँ अगले साथ विधान सभा चुनाव होने हैं। राजनीतिक गलियारों में चल रही चर्चा की मानें तो राजस्थान के दो तीन नेताओं को कैबिनेट विस्तार में जगह दी जा सकती है। वहीं बिहार से जदयू और भाजपा के कुछ नेताओं कौन मंत्री बनाया जा सकता है। मोदी कैबिनेट विस्तार की सुगबुगाहट के बीच देश भर में भी हलचल तेज हो गयी है। राजस्थान से किसका लगेगा नंबर मूकनायक मीडिया सूत्रों के अनुसार राजस्थान से डॉ किरोड़ी लाल मीना और जसकौर मीना में से किसी एक को जगह मिल सकती है। वहीं सुमेधानंद और राजवर्धन राठौर में से किसी एक की लॉटरी लग सकती है। कयास लगाये जा रहे हैं कि मध्यप्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया और हाल ही में बीजेपी में गये जितिन प्रसाद को भी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। अगर जदयू मोदी कैबिनेट में शामिल होती है, तो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह को मंत्री बनाया जा सकता है। बिहार बीजेपी के इन नेताओं की लग सकती है लॉटरी इसके अलावा, जेडीयू के दो अन्य नेताओं को भी मंत्री बनाने की बात कही जा रही है। जेडीयू से सासंद ललन सिंह, दिलेश्वर कामत और अनिल ठाकुर का नाम सबसे आगे है। बताया जा रहा है कि मोदी कैबिनेट विस्तार में बिहार के नेताओं को भी जगह मिल सकती है। इनमें सुशील कुमार मोदी और प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का हनाम सबसे आगे है। दरअसल, बिहार चुनाव में जीत के बाद सुशील कुमार मोदी को राज्यसभा भेजा गया था। बोझ कम किया जा सकता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंत्रिपरिषद का विस्तार हो सकता है। दूसरे कार्यकाल का यह पहला विस्तार होगा।कोरोना संक्रमण के दौरान कई मंत्रियों का निधन और कई मंत्रियों के पास अतिरिक्त जिम्मेदारियाँ हैं सरकार की कोशिश है कि इन जिम्मेदारियों को बांटा जाये और काम में आसानी हो इसलिए यह विस्तार जरूरी है। ऐसे कई नेता है जिनका बोझ कम किया जा सकता है अगर इन नेताओं की चर्चा करें तो इसमें प्रकाश जावड़ेकर, पीयूष गोयल, नरेंद्र सिंह तोमर सरीखे कई नेता है जिनके पास दूसरे मंत्रालय भी हैं अगर प्रकाश जावड़ेकर की बात करें तो इनके पास पर्यावरण के साथ- साथ भारी उद्योग है। पीयूष गोयल के पास वाणिज्य और रेल मंत्रालय के अतिरिक्त उपभोक्ता मामला भी है। ऐसे कई नाम है जिन पर मंत्रालय के कई विभागों का बोझ है। मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए आर्थिक सहयोग दीजिए… उम्मीद है आप मिशन अंबेडकर से अवश्य जुड़ेंगे मूकनायक मीडिया बिरसा फुले अंबेडकार मिशन हम तभी जारी रख सकते हैं जब आप सभी बाबासाहब डॉ अंबेडकर के इस मिशन से आत्मीयता से जुड़ें ! मिशनरी कार्य आप तक पँहुचाने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें। आप सब दानवीर हैं इसलिए आपसे मिशन अंबेडकर को आगे बढ़ाने हेतु आर्थिक मदद की जरुरत हैं। अत: अपनी इच्छानुसार PhonePay या Paytm 9999750166 पर क्रमशः मासिक / अर्द्धवार्षिक / वार्षिक 200, 600, 1200, 2400 या एकमुश्त 5100, 11000, 21000 दीजिए। या इससे भी इससे भी अधिक अपनी हेसियत के मुताबिक नीचे Donate link पर जाकर आर्थिक सहयोग दीजिए ताकि बिरसा फुले अंबेडकार मिशन का कारवाँ जारी रह सके। जैसे-जैसे संसाधन बढ़ेंगे.. आपका मूकनायक मीडिया आगे बढ़ेगा.. डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links को करके सब्सक्राइब कीजिए…

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp

डॉ अंबेडकर की बुलंद आवाज के दस्तावेज : मूकनायक मीडिया पर आपका स्वागत है। दलित, आदिवासी, पिछड़े और महिला के हक़-हकुक तथा सामाजिक न्याय और बहुजन अधिकारों से जुड़ी हर ख़बर पाने के लिए मूकनायक मीडिया के इन सभी links फेसबुक/ Twitter / यूट्यूब चैनलको click करके सब्सक्राइब कीजिए… बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी के “Payback to Society” के मंत्र के तहत मूकनायक मीडिया को साहसी पत्रकारिता जारी रखने के लिए PhonePay या Paytm 9999750166 पर यथाशक्ति आर्थिक सहयोग दीजिए…
उम्मीद है आप बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन से अवश्य जुड़ेंगे !

बिरसा अंबेडकर फुले फातिमा मिशन के लिए सहयोग के लिए धन्यवाद्

Recent Post

Live Cricket Update

Rashifal

You May Like This